Medical Courses After 12th । मेडिकल क्षेत्र मे करियर कैसे बनाए ?

0
512

हेल्थ इंडस्ट्री दुनिया की सबसे बड़ी टॉप इंडस्ट्रियो मे से एक है ,यही कारण है कि हेल्थ सेक्टर तेजी से ग्रो कर रहा है, कोविड आने के बाद तो मेडिकल इंडस्ट्री से जुड़े हुए लोगों की मांग तेजी से बढ़ रही है। अगर कोई भी विधार्थी मेडिकल के क्षेत्र मे रुचि रखता है तो यह इंडस्ट्री उनके लिए बेहद ही अच्छा विकल्प हो सकती है।

आज हम आपको इस लेख मे मेडिकल से जुड़े हुए कोर्स के बारे मे जानकारी देने वाले है कि बारहवी करने के बाद आप मेडिकल से जुड़े हुए किन किन कोर्स मे दाखिला ले सकते है।

इसलिए लेख को पूरा पढे यह जानकारी आपके बेहद काम आ सकती है ,इसे लेख हम जानने वाले है कि डॉक्टर बनने के लिए आप किस किन मेड़किल कोर्स मे दाखिला ले सकते है Medical Courses After 12th या फिर डॉक्टर कैसे बने docter kaise bane

Docter Kaise Bane

देश मे अगर देखा जाए सभी पेरेंट्स की इच्छा होती है कि उनके बच्चे बड़े होकर डॉक्टर या फिर इंजीनियर बने ताकि उन्हे अच्छे नौकरी मिल सके फिर डॉक्टर बनकर खुद का अस्पताल खोल सके.।

लेकिन मेडिकल इंडस्ट्री मे करियर बनाना इतना आसान नहीं है जितना लोगों को लगता है। अगर आप भी मेडिकल क्षेत्र मे करियर बनाना चाहते है तो आपको बारहवी के बाद नीट के एंट्रेनस एग्जाम को क्वालिफ़ाई करना पड़ता है.

देश के अंदर प्रत्येक वर्ष नीट की परीक्षा का आयोजन किया जाता है। जिसमे 16 से 17 लाख विधार्थी भाग लेते है लेकिन एडमिशन के लिए इनमे से कुछ स्टूडेंट्स ही क्वालिफ़ाई कर पाते है।

उसके बाद आपको नंबर के आधार पर मेड़किल कोर्स मे लिए सीट मिलती है। जिनमे आप अपना करियर बना सकते है. आपके नंबर जीतने अच्छे होंगे आपको मेड़किल के उतने ही बड़े लेवल के कोर्स मे दाखिला मिलेगा। उसके बाद जैसे जैसे नंबर कम होते जाएंगे कोर्स का लेवल भी कम होता जायेगा।

लेकिन अगर आप नीट का एजगम देने के बाद क्वालिफ़ाई नहीं कर पाते है। तो आपको टेंशन लेने की जरूरत नहीं है. देश मे ऐसे बहुत से मेडिकल कोलीज है जो नीट एग्जाम क्वालिफ़ाई न करने वाले विधारथियों को भी दाखिला देते है।

योग्यता

अगर आप मेडिकल के किसी भी कोर्स मे दाखिला लेना चाहते है. तो आपको सबसे पहले अपनी बारहवी की परीक्षा किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड साइंस स्ट्रीम मे यानि कि भौतिकी, रसायन विज्ञान और जीव विज्ञान/गणित (पीसीबी/पीसीएम) जैसे विषय से 50 से 60 प्रतिशत अंकों के साथ पास होना अनिवार्य है.

Medical Courses after 12th

Bachelor of Medicine and Bachelor of Surgery(MBBS)

अगर कोई भी युवा डॉक्टर बनना चाहता है तो उसका सबसे बड़ा सपना एमबीबीएस बनने के होता है यही कारण है कि मेडिकल के इस कोर्स मे सबसे ज्यादा डिमांड रहती है इस कोर्स में दाखिला लेने वाले पेशेवरों को मेडिसिन और सर्जरी में बैचलर डिग्री दी जाती है।

एमबीबीएस कोर्स में दाखिला केवल नीट एग्जाम पास करने वाले युवाओ को ही मिलता है. इस कोर्स की अवधि 5 वर्ष है।

इसे भी जरूर पढे :- मोबाइल रोबोटिक्स इंजीनियरिंग में करियर कैसे बनाये

Bachelor of Ayurveda, Medicine and Surgery.

बी ए एमएस भी डॉक्टर से जुड़ा हुआ कोर्स है इस कोर्स मे दाखिला लेने वाले पेश्वरों को आयुर्वेद दवाइयों के बारे मे गहराई से समझाया जाता है इस कोर्स की अवधि भी 5 वर्ष की है इसमे 4 वर्ष की कोलीज पढ़ाई और एक वर्ष की इंटर्नशिप

Bachelor of Homeopathic Medicine and Surgery.

बीएच एम एस का पूरा नाम बैचलर ऑफ होम्योपैथी मेडिसिन एंड सर्जरी है। इस कोर्स मे दाखिला लेने वाले पेशेवरों को होम्योपैथी इलाज के बारे मे एक्सपर्ट्स बनाने का मौका मिलता है। इस कोर्स की अवधि एक वर्ष की इंटरशिप के साथ 5.5 वर्ष की है इस कोर्स को पूरा करने के बाद आप वर्ष जॉब करके अपना खुद का होम्योपैथी क्लिनिक भी खोल सकते है।

Bachelor of Dental Surgery

बीडीएस यानि कि बैचलर ऑफ डेंटल सर्जरी इस कोर्स की अवधि भी पाँच वर्ष है.

Bachelor of Veterinary Science

इस कोर्स मे दाखिला लेने वाले पेश्वरों को जानवरों से जुड़ी बीमारियों और उनके इलाज के बारे मे पढ़ाया जाता है इस कोर्स की अवधि भी 5 वर्ष है. इस कोर्स को करने के बाद आप एनिमल क्लीनिक भी खोल सकते है और अच्छी कमाई कर सकते है.

इसे भी पढे : – विधार्थी के जीवन की कुछ बड़ी ग़लतियाँ जो किसी भी विधार्थी को नहीं करनी चाहिए

Medical Course in Physiotherapy

मेडिकल कोर्स मे दाखिला लेने के इच्छुक छात्र फिजियोथेरेपी कोर्स मे दाखिला ले सकते है। इस कोर्स मे आप बिना नीट एग्जाम पास किए भी दाखिला ले सकते है इस कोर्स मे शरीर की मांसपेशियों संबंधी इलाज के बारे मे विस्तार से पढ़ाया जाता है।

इस कोर्स की अवधि 4.5 वर्ष है. इस कोर्स को पूरा करने के बाद कुछ वर्ष किसी हॉस्पिटल मे अनुभव लेकर अपना खुद का फ़िजियोथेरिपी क्लिनिक खोल सकते है।

B.Sc Nutrition and Dietetics

अगर आप मेडिकल के क्षेत्र मे अपना करियर बनाने की सोच रखते है. लेकिन आपको खाने पीने के बारे मे या फिट्सन संबंधी फूड के बारे मे अच्छी समझ या आपकी रुचि है, तो न्यूट्रिशन का क्षेत्र आपके लिए अच्छा विकल्प हो सकता है।

इस कोर्स मे आप बेचलर और मास्टर्स डिग्री कर सकते है , इस कोर्स को पूरा करने के बाद आपको सरकारी सेक्टर और स्वास्थ्य सेक्टर मे आसानी से जॉब मिल सकती है।

Psychology Course

इस कोर्स मे दाखिला लेने वाले युवाओ को मानव मन और व्यवहार ज्ञान के बारे मे पढ़ाया जाता है अगर आपकी साइकोलॉजी मे रुचि है, तो आप इस कोर्स मे दाखिला ले सकते है. इस कोर्स की अवधि तीन वर्ष है इस कोर्स को करने वाले युवाओ के पास सरकारी और निजी सेक्टर मे जॉब के अवसर रहते है.

इसे भी पढे :- केमिस्ट्री मे करिअर कैसे बनाए |


Medical Course Pharmacy

फार्मेसी Pharmacy कोर्स मेडिसिन से जुड़ा हुआ है. जिसमे युवाओ को अलग अलग प्रकार की दवाइयों और ड्रग्स के बारे मे विस्तार से पढ़ाया जाता है. बारहवी करने के बाद विधार्थी इस कोर्स मे दाखिला ले सकते है .फार्मेसी मे करियर बननें वाले विधार्थी डिग्री और मास्टर्स कर सकते है. इस कोर्स को करने के बाद स्टूडेंट्स छात्र हेल्थ इंस्पेक्टर, फार्मासिस्ट, केमिकल टेक्नीशियन, ड्रग इंस्पेक्टर, पद पर कार्य कर सकते है.

B.Sc Nursing Course

अगर कभी हॉस्पिटल मे गए होंगे तो अपने देखा होगा कि डॉक्टरों के साथ सबसे ज्यादा नर्स ही दिखाई देती है. जिसका काम मरीज की देखभाल करना जरूरत के समय डॉक्टर्स को बुलाने का होता है. नर्सिंग भी एक प्रोफेशनल कोर्स है जिसकी अवधि 4 वर्ष होती है. इस कोर्स को करने के बाद विधार्थी नर्स शिक्षक, मेडिकल कोडर , स्टाफ नर्स, रजिस्टर्ड नर्स (आरएन), इत्यादि बनकर अपना करियर बना सकते है.

इसे भी जरूर पढे :- मेडिसिन एमआर कैसे बने।

इन सब के अलावा भी मेडिकल के कुछ ऐसे कोर्स है जिनमे करियर बनाने के लिए नीट एग्जाम पास करने की जरूरत नहीं होती है .

  • बैचलर ऑफ रेस्पायरेटरी थेरेपी
  • बैचलर ऑफ साइंस इन बायोटेक्नोलॉजी
  • बैचलर ऑफ ऑक्यूपेशनल थेरेपी
  • बीटेक इन बायोमेडिकल इंजीनियरिंग
  • बैचलर ऑफ साइंस इन माइक्रोबायोलॉजी
  • बैचलर ऑफ साइंस इन कार्डिएक टेक्नोलॉ
  • बैचलर ऑफ नैचुरोपैथी एंड योगा साइंस
  • बीएससी इन फोरेंसिक साइंस
  • बीएससी इन बायोकेमिस्ट्री
  • बीएससी इन रेडियोलॉजी
  • बीएससी इन पैथलॉजी
  • बीएससी इन जेनेटिक्स
  • कार्डियोवस्कुलर टेक्नोलॉजिस्ट
  • बायोटेक्नोलॉजिस्ट
  • मेडिकल इंजीनियर
  • ऑक्युपेशनल थेरेपिस्ट
  • रेस्पिरेटरी थेरेपिस्ट
  • पैरामेडिकल कोर्स
  • इमरजेंसी मेडिकल टेक्नोलॉजिस्ट (पैरामेडिक)
  • इमरजेंसी मेडिकल लैब टेक्नीशियन
  • एंडोस्कोपी और लैप्रोस्कोपी टेक्नोलॉजिस्ट

डॉक्टर बनें के लिए कुछ जरूरी स्किल

  • मेडिकल कोर्स मे दाखिला लेने के लिए आपको मानसिक रूप से मजबूत होना बेहद जरूरी है ताकि आप सही तरीके अपनी पढ़ाई पूरी कर सको.
  • एक अच्छा डॉक्टर बनाने के लिए आपको दिन रात पढ़ाई करनी पड़ती है क्योंकि आपका कोर्स इतना ज्यादा होता है जजिसे कम समय मे पूरा कर पान आसान नहीं होता है.
  • अगर आप मेडिकल मे क्षेत्र मे महारत हासिल करना चाहते है तो आपके अंदर पेशन्स और दया की भावना होना बेहद जरूरी है ताकि लोग आपको दिल से दुआए दे.
  • कई बार आपको इस सेक्टर मे दिन रात काम करना पड़ता है इसलिए खुद को कभी कमजोर न करे.

इसे भी जरूर पढे : क्वांटम टेक्नोलॉजी क्या है ?

लेख मे आपने क्या सीखा

इस लेख मे हमने आपको मेडिकल सेक्टर से जुड़े हुए अलग अलग कोर्स के बारे मे बताया है अगर आप मेडिकल मे करियर बनाना चाहते है तो आप इनमे से अपनी पसंद का कोई भी एक कोर्स चुनकर करियर बना सकते है इस लेख मे हमने आपको बताया है कि करियर ऑप्शन इन मेडिकल

इसे भी पढे :- योगा के क्षेत्र में करियर कैसे बनाये

अगर आपको हमारी ये जानकारी पसंद आई है तो आप अपनी राय हमे कमेन्ट बॉक्स मे जरूर बताए और इस जानकारी को दूसरे लोगों के साथ जरूर शेयर करे ताकि उन्हे भी इन कोर्स के बारे मे पता चल सके अगर इस जानकारी को लेकर आपका किसी भी प्रकार का सवाल है तो आप हमसे कमेन्ट के जरिए भी पूछ सकते है
धन्यवाद

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here