Medical Lab Technician Kaise Bane : मेडिकल लैब टेक्नीशियन कैसे बने ?

2
300

आपने Lab Technician के बारे जरूर सुना होगा। जिनका काम लेब से जुड़े सभी कार्यो को करना होता है। आज हम आपको इस लेख में लैब टेक्नीशियन से जुड़े सभी कार्यो के बारे में बताने वाले है कि लैब टेक्नीशियन कोर्स क्या है Lab Technician Course Kya Hai और आप लैब टेक्नीशियन के क्षेत्र में किस प्रकार अपना करियर बना सकते है। या फिर मेडिकल लैब टेक्नीशियन कैसे बने Medical Lab Technician Kaise Bane

इस लेख में हम आपको यह भी बतायेँगे कि लैब टेक्निशयन के क्षेत्र में करियर कैसे बनाये Lab Technician Me career Kaise Banaye अगर आप भी इस क्षेत्र के बारे में सम्पूर्ण जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो इस लेख को पूरा पढ़े 

वैसे तो Medical Lab Technician डॉक्टरों के निर्देशों पर कार्य करते है। लेबोरेटरी में जांच के लिए बनाए जाने वाले घोल  का कार्य भी  लैब टेक्नीशियन के द्वारा किया जाता है। इसके अलावा इन्हे मेडिकल साइंस के साथ साथ लेबोरेटरी के सुरक्षा नियमों और वहां की सभी जरूरतों के बारे में संपूर्ण ज्ञान होना चाहिए। लैब टेक्नीशियन का काम नमूनों के आधार पर जाँच करने का होता है। परन्तु वे नमूनों की रिपोर्ट का विश्लेषण करने के लिए प्रशिक्षित नहीं होते है।

मेडिकल लैब टेक्नीशियन कैसे बने ? Medical Lab Technician Kaise Bane

नमूनों के आधार पर जाँच का विश्लेषण करने का काम पैथोलॉजिस्ट या फिर लेब टेक्नोलॉजिस्ट के द्वारा ही किया जाता है। Lab Technician जाँच करने के बाद कुछ सेम्पलों को अगर आगे की जाँच करने या फिर जरूरत के अनुसार उन्हें किसी सुरक्षित स्थान पर भी रख सकता है। इसलिए हम कह सकते है कि लेब टेक्नीशियन ऍमअलटी का काम बड़ी ज़िम्मेदारी भरा होता है।

उसे  सभी सेम्पलों का रख रखाव भी बड़ी सावधनीपूर्वक करना होता है, ताकि सेम्पलों की आपस में अदला बदली न हो जाये। जिससे दुसरो की रिपोर्ट किसी और के पास चली जाये इस काम में धैर्य और निपुणता बहुत ही आवश्यक है।

हमेशा मेडिकल लेब टेक्नीशियन (Medical Lab Technician )डॉक्टरों के निर्देशों पर ही कार्य करते है। उनके ज़िम्मे लेब से जुड़े अनेक कार्य होते है, जैसे कि लेब से जुड़े उपकरणों की देख रेख करना , नमूनों की जाँच और विश्लेषण में काम आने वाला घोल भी लेब टेक्नीशियन के द्वारा ही तैयार किया जाता है। लेब टेक्नीशियन को मेडिकल साइंस के साथ साथ लेबॉरेटरी से जुड़े सुरक्षा नियमों के बारे में भी अच्छा ज्ञान होना चाहिए।

लेब टेक्नीशियन का मुख्य काम नमूनों के आधार पर जांच करने का होता है। परन्तु वे इन जाँच के परीक्षण और विश्लेषण के लिए प्रशिक्षित नहीं होते है | इन नमूनों के परिणामों का विश्लेषण पैथोलॉजिट या लेब टेक्नोजिस्ट के द्वारा ही किया जाता है। जांच के लिए रखे गए सैंपलों की सही तरीके से देखरेख करने का काम भी लेब टेक्नीशियन Lab Technician के द्वारा ही किया जाता है।

दरअसल Medical Lab Technician किसी बीमारी की रोकथाम करने के लिए फिजिशियन की मदद करते हैं. लैब टेक्नीशियन बीमारी की जांच करने से लेकर उसके इलाज तक में सहायता करते है। मेडिकल लेबोरेटरी टेक्नोलॉजिस्ट (MLT) बॉडी फ्लूड्स, टीसू, ब्लड टाइपिंग, माइक्रो ऑर्गेनिज्म स्क्रीनिंग, केमिकल एनालिसिस, ह्यूमन बॉडी का सेल काउंट टेस्ट करते हैं और उसका विश्लेषण करते हैं

ये सैंपलिंग, टेस्टिंग, रिपोर्टिंग और डॉक्यूमेंटेशन करने में अपना महत्वपूर्ण योगदान देते हैं.आपको बता दें कि दो तरह के मेडिकल लेबोरेटरी वर्कर्स होते हैं- टेक्नीशियन और टेक्नोलॉजिस्ट्स

मेडिकल लैब टेक्नीशियन के कार्य –

  • माइक्रोबायोलॉजी
  • हेमाटोलॉजी
  • ब्लड बैंकिंग
  • इम्यूनोलॉजी
  • क्लिनिकिल केमिस्ट्री
  • मॉलिक्यूलर बायोलॉजी
  • साइटोटेक्नोलॉजी

इसे भी पढे :- माइक्रो बायोलॉजी मे करिअर कैसे बनाए

कोर्स और योग्यता Qualification and Course

ये बात तो ज़रूर याद रखे अगर आप मेडिकल से जुड़े किसी भी क्षेत्र में अपना करियर बनाना चाहते है तो आपको बारहवीं की परीक्षा साइंस स्ट्रीम  ( फ़िज़िक्स , केमिस्ट्री , बॉयोलॉजी ) से  अनिवार्य है तभी आप मेडिकल से जुड़े किसी भी क्षेत्र में अपना करियर बना पाओगे।

बारहवीं करने के बाद आप मेडिकल लेब टेक्नीशियन से जुड़े निम्नलिखित डिग्री डिप्लोमा ,और सर्टिफ़िकेट कोर्स  कर सकते है।

CMLT ( Certificate Course in Medical Lab Technician ) इस कोर्स को आप दसवीं की परीक्षा पास करने के बाद कर सकते है यह  6 महीने का एक सर्टिफिकेट कोर्स है।

इसे भी जरूर पढे : – बायोमेडिकल इंजीनियरिंग क्या है

DMLT ( Diploma in Medical Lab Technician ) 2 Year इस कोर्स को करने के लिए आपको बारहवीं की परीक्षा साइंस स्ट्रीम से करना जरूरी है यह एक से दो वर्ष का डिप्लोमा कोर्स है।

B.Sc in Medical Lab Technician इस कोर्स में दाखिला लेने के लिए आपको बारहवीं की परीक्षा साइंस स्ट्रीम से पास  करना अनिवार्य है उसके बाद ही आप इस कोर्स में दाखिला ले सकते है यह तीन वर्ष का एक ग्रेजुएशन कोर्स है।

इसे भी पढे :- केमिस्ट्री मे करिअर कैसे बनाए

M. Sc in Medical Laboratory Technologist   इस कोर्स के दाखिला लेने के लिए आपको कम से कम  दसवीं या बारहवीं की परीक्षा पास करना अनिवार्य है उसके बाद आपके पास दो वर्ष का एसोसिएट ट्रेनिंग प्रोग्राम सर्टिफिकेट होना चाहिए छात्र इस प्रकार की ट्रेनिंग लेबोरेटरी कार्य के साथ साथ कर सकते है उसके बाद ही आप इस कोर्स में दाखिला ले पाओगे।

मेडिकल लेब टेक्नीशियन में जॉब अवसर 

अगर आप लैब टेक्नीशियन Lab Technician कोर्स करने की सोच रहे है तो इसमें रोजगार की कोई कमी नहीं है, क्योंकि आज के समय में नई-नई बीमारियां उत्पन्न हो रही है। इसलिए ज्यादातर लोग अपनी सेहत का अच्छा ध्यान रखते है। आज के समय में डॉक्टर भी छोटी छोटी बीमारियों का इलाज शुरू करने से पहले जांच कराने के लिए बोलते है ताकि समय रहते हुए उस बीमारी का सही इलाज किया जा सके।

इसे भी पढे :- फाइनेंसियल एडवाइजर कैसे बने

इसलिए पैथोलॉजी लेबोरेटरी जगह जगह खुल रही है | हॉस्पिटल में पैथोलॉजी विभाग अलग होता है ऐसे में आपके पास जॉब के अनेको अवसर मौजूद रहते है।

मेडिकल के क्षेत्र में जितना ज्ञान आप किताबों से प्राप्त करते हो उससे कहीं ज्यादा ज्ञान आपको परीक्षण का होना चाहिए। छात्रों को इस प्रकार के परीक्षण लेबोरेटरी के दौरान कार्य करने से ही मिल सकती है। अगर आपके पास इस काम का प्रमाण पत्र है और इसका अच्छा अनुभव या ज्ञान है तो आप मेडिकल लेबोरेटरी , हॉस्पिटल , पैथोलॉजिस्ट , के साथ काम कर सकते है ब्लड बैंकों में भी आपके लिए जॉब के अच्छे अवसर मौजूद रहते है।

इसे भी जरूर पढे : मेडिकल से जुड़े करियर ऑप्शन जिनमे आप करियर बना सकते है ?

वेतन Salary

इस क्षेत्र में करियर शुरू करने पर आपको शुरुआत में कम से कम दस से पंद्रह हजार रूपये प्रति माह तक मिल जाते है, जबकि पैथोलॉजिस्ट के पद पर करने वालो को शुरुआत में कम से कम 25 से 30 हजार रूपये प्रति माह तक मिल जाते है उसके बाद जिस प्रकार से आपका अनुभव और ज्ञान बढ़ता है। उसी प्रकार से आपकी सेलरी भी बढ़ती रहती है।

कुल मिलाकर अगर हम कहे तो –

इसे भी पढे : – डिजिटल बैंकिंग मे करियर कैसे बनाए ?

इस क्षेत्र में करियर बनाना कोई घाटे का सौदा नहीं है। अगर आपको मेडिकल क्षेत्र में इंटरस्ट है, तो यह कोर्स आपके लिए अच्छा है, क्योंकि यह दूसरे कोर्स की तुलना में काफी सस्ता है और ज्यादा डिमांड वाला है।

जॉब पोस्ट ( Job Designation )

  • लैब टेक्निशियन Lab Technician
  • लेबोरेट्री मैनेजर Laboratory Manager 
  • कंसल्टेंट Laboratory Consultant 
  • सुपरवाइजर Laboratory Supervisor 
  • हेल्थ एंड सेफ्टी ऑफिसर Health and Safety Officer

इसे भी जरूर पढे : नर्सिंग मे करियर कैसे बनाए ।

लेब टेक्नीशियन संबंधी देश के कुछ प्रमुख संस्थान 

  • Cradle institute of Paramedical Sciences, New Delhi
  • Paramedical College, Durgapur Paschim Bangal
  • Indian institute of Paramedical Sciences, Lucknow UP 
  • Department of Pathology Aligarh Muslim University, Aligher UP 
  • Hippocrates Institute of Paramedical Science and Research, NOIDA UP
  • Shivalik Institute of Paramedical Technology, Chandigarh

इसे भी जरूर पढे : साइबर सेक्स या साइबर बुलिग क्या है।

आपने लेख मे क्या सीखा

इस लेख में हमने आपको लैब टेक्नीशियन के बारे में संपूर्ण जानकारी दी है कि लेब टेक्नीशियन कैसे बने Lab Technician Kaise Bane या लैब टेक्नीशियन के क्षेत्र में करियर कैसे बनाये Lab Technician Me career Kaise Banaye अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगी हो तो आप अपनी राय हमें कमेंट बॉक्स में बता सकते।

इसे भी जरूर पढे :- ऐसे कीवर्ड्स जिन्हे गूगल पर भूलकर भी न सर्च करे

अगर आपको इस लेख को लेकर किसी प्रकार का सवाल है तो आप अपना सवाल कमेंट के जरिये हमसे पूछ सकते है और इस जानकारी को दूसरे के साथ भी शेयर करे ताकि उन्हें भी इस महत्वपूर्ण जानकारी का पता चल सके।

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here