Dentist Kaise Bane : दांतों के डॉक्टर कैसे बनें ।

Dentist Kaise Bane
Dentist Kaise Bane

जैसे जैसे दुनियां मे बीमारिया बढ़ती जा रही है, उतनी ही तेजी से लोग अपनी सेहत के प्रति जागरूक हो रहे है। ऐसे मे मनुष्य से जुड़ी एक बीमारी दांतों से जुड़ी हुई भी है, इसका सबसे बड़ा कारण है।

खाने वाले पदार्थों मे जरूरत से ज्यादा केमिकलस जिसके कारण कम आयु मे ही लोगों के दांत कमजोर होने लगते है, यही कारण है कि आज के समय मे अच्छे डेन्टिस्ट Dentist की मांग तेजी से बढ़ती जा रही है.

अगर देखा जाए तो हमरे देश मे जनसंख्या के हिसाब से डेन्टिस्ट का अनुपात बहुत कम है, अगर आप डॉक्टर से जुड़े प्रोफेशन मे अपना करियर बनाना चाहते है, तो डेन्टिस्ट का करियर आपके लिए एक सदाबहार करियर हो सकता है।

आज हम आपको इस लेख मे इसी करियर के बारे मे सम्पूर्ण जानकारी देने वाले है, इसलिए लेख को अंत तक जरूर पढे. इस लेख मे हम आपको बताने वाले है कि डेन्टिस्ट कैसे बने Dentist Kaise Bane इत्यादि

Dentist Docter

हेल्थ से जुड़े क्षेत्रों मे दांतों से जुड़े क्षेत्र डेन्टिस्ट Dentist भी युवाओ के लिए एक अच्छा करियर विकल्प है।

इस क्षेत्र मे करियर बनने वाले युवाओ के लिए देश ही नहीं विदेशों मे भी जॉब के अच्छे अवसर मौजूद है. लेकिन आंकड़ों के हिसाब से अभी भारत मे भी डेन्टिस्ट डॉक्टर्स की काफी कमी है।

अगर अगर इस प्रोफेशन से जुड़े कोर्स करने के बाद आपके पास अच्छा ज्ञान और अनुभव है, तो आपके लिए काभी भी जॉब या काम की कमी नहीं होने वाली है.

ऐसा बिल्कुल नहीं है कि अगर आप दंत चिकित्सक बनते हो तो कुछ और नहीं कर सकते. आप चाहे तो चिकित्सा से जुड़े दूसरे क्षेत्रों मे भी स्पेशलाइजेशन कर सकते हो, यही वजह है कि युवाओं के लिए डेंटिस्ट बनाना उनके भविष्य के लिए एक अच्छा विकल्प हो सकता है.

भारत मे डेन्टिस्ट की मांग

कुछ सर्वे के अनुसार भारत मे डेन्टिस्ट और जनसंख्या अनुपात शहरी क्षेत्रों मे 1 : 10000 व ग्रामीण क्षेत्रों मे 1 : 20,000 के लगभग है यानि कि शहरी क्षेत्रों मे दांत संबंधी बीमारियों को दूर करने के लिए 10000 लोगों के लिए केवल एक डॉक्टर्स है, और ग्रामीण क्षेत्रों मे 20,000 लोगों का इलाज करने के लिए केवल एक डॉक्टर्स है.

ऐसे मे आप इसी बात से अंदाज लगा सकते है, कि इस क्षेत्र मे डेन्टिस्ट की कितनी भारी डिमांड है।

स्वास्थ्य सेवाओ के प्रति जागरूकता स्वास्थ्य सेवाओ पर खर्च , ग्रामीण और शहरी स्वास्थ्य मिशनों का बढ़ता चलन , निजी दंत चिकित्सा कार्यालयों की बढ़ती संख्या के कारण सस्ती कीमतों पर बेहतर दंत चिकित्सा सुविधाओ की मांग लगातार बढ़ती जा रही है.

योग्यता Qualification

डेन्टिस्ट Dentist बनने के लिए सबसबे पहले आपको अपनी बारहवी की परीक्षा साइंस स्ट्रीम यानि की फिजिक्स केमिस्ट्री , बायोलॉजी इत्यादि विषयों के साथ कम से कम 50 % अंकों के साथ करना अनिवार्य है।

बारहवी करने के बाद आपको नीट के एन्ट्रेंस एग्जाम से होकर गुजरना पड़ता है. अगर आप एग्जाम को क्वालिफ़ाई करते हो तभी आप डेन्टिस्ट संबंधी किसी कोर्स मे दाखिला ले सकते है.

डेन्टिस्ट संबंधी कोर्सज

बेचलर ऑफ डेंटल सर्जरी

अगर आप डेन्टिस्ट मे बेचलर डिग्री करना चाहते है, तो आपको नीट एग्जाम क्वालिफ़ाई करना अनिवार्य है, उसके बार ही आपको बीड़ी एस यानि बेचलर ऑफ डेंटल सर्जरी मे दाखिला ले सकते है। इसे भी जरूर पढे :- मेडिकल लैब टेक्नीशियन कैसे बने

बीड़ी एस मे दाखिला लेने के लिए आप अपनी इच्छा से कॉलेज का चुनाव कर सकते है, लेकिन आपको ऐसे कॉलेज मे दाखिला लेना चाहिए जिसका सेलेबस डेंटल काउंसिल ऑफ इंडिया डीसीआई द्वारा मान्यता प्राप्त हो। डेंटल काउंसिल ऑफ इंडिया भारत मे दंत चिकित्सा विज्ञान के लिए शीर्ष पर माना जाता है.

बीडीएस करने के बाद छात्रों को मरीजों के साथ अनुभव के लिए कम से कम एक वर्ष की इंटर्नशिप करनी चाहिए इंटर्नशिप करने के लिए छात्र किसी दंत हॉस्पिटल या अनुभवी दंत चिकित्सक के साथ रह सकता है.

मास्टर इन डेंटल सर्जरी

बीड़ीएस BDS करने के बाद यह तीन वर्ष की मास्टर्स डिग्री होती है, जिसमे दाखिला के लिए छात्रों का चयन राष्टीय , राज्य या यूनिवर्सिटियों मे आयोजित की जाने वाली प्रवेश परीक्षा के आधार पर किया जाता है।

इस मास्टर्स डिग्री मे स्पेसलाइजेशन के लिए भी आप अलग अलग क्षेत्रों का चुनाव कर सकते है।

जैसे कि इंडो डॉन्टिकस , ओरल एंड मेकसीलोफेशियल , पेथोलॉजी , ओरल सर्जरी , आर्थोडॉन्टिकस , पीड़ो डॉन्टिकस पीरिय डॉन्टिकस एवं प्रोस्थोडॉनटिक्स इत्यादि क्षेत्र मास्टर डिग्री करने से न केवल आपके पास डिग्री बढ़ती है बल्कि आपके कोशल मे भी वरद्दी होती है। इसे भी पढे :- केमिस्ट्री मे करिअर कैसे बनाए

प्रवेश परीक्षा

डॉक्टर्स से जुड़े कोर्स मे दाखिला लेने के लिए देश मे अलग अलग स्तर पर प्रवेश परीक्षयाए आयोजित की जाती है।

नेशनल लेवल एग्जाम

डेंटिक्स से जुड़े बेचलर कोर्स मे दाखिला लेने के लिए नेशनल स्तर पर नीट की परीक्षा आयोजित की जाती है, जो एक बेहद कठिन परीक्षा होती है. इसलिए इस परीक्षा को क्वालिफ़ाई करने के लिए छात्रों को कड़ी मेहनत और लगन से पढ़ाई करनी पड़ती है.

स्टेट लेवल

राज्य स्तर की परीक्षा के लिए अलग अलग स्तर पर प्रवेश परीक्षा आयोजित की जाती है. जिसके बारे मे जानकारी प्राप्त करने के लिए छात्र जॉब या राज्य से जुड़ी साइट्स पर जाकर प्राप्त कर सकते है.

यूनिवर्सिटी स्तर

देश मे मेडिकल से जुड़े ऐसी बहुत सी यूनिवर्सिटी है जो छात्रों को दाखिला देने के लिए प्रवेश परीक्षा का आयोजन करती है. ऐसे मे आप यूनिवर्सिटी मे दाखिला लेने के लिए ऐसी यूनिवर्सिटियों की ऑफिसियल वेबसाइट्स पर जाकर पूरी जानकारी प्राप्त कर सकते है। इसे भी जरूर पढे :- मेडिसिन एमआर कैसे बने.

डेंटिक्स से जुड़े क्षेत्र

जैसे कि हमने इस पूरे लेख में बात कि है डेंटिस्ट के बारे में तो आप इस क्षेत्र में डेंटिस्ट के तौर पर अपना करियर शुरू कर सकते है, लेकिन इसके अलावा भी कुछ ऐसे क्षेत्र में है जिसमे आप अपना करियर बना सकते है.

डेंटल हाइजीन

इस क्षेत्र मे डेंटल हाइजीनिस्ट का मुख्य कार्य मरीजों की मोखिक स्वास्थ्य जरूरतों को पूरा करना होता है. इसके अलावा डेंटल हाइजीनिस्ट दांतों से टार्टर और पलाक को हटाने , दांतों मे फ्लोराइड या सीलेंट लगाने एक्सरे लेने इत्यादि जैसे कार्य भी करने पड़ते है. ऐसे मे आप डेंटिक्स से जुड़े इस क्षेत्र मे भी महारत हासिल कर सकते है.

एंडो डॉन्टिकस

डेंटिक्स से जुड़े इस क्षेत्र मे करियर बनाने वाले युवाओ को बायोलॉजी के आधार पर मरीज के दांतों की समस्या का समाधान करना पड़ता है. रूट कैनाल प्रोसीजर , दांत की चोट उसके लिए प्रीवेनतिव तरीके से समस्याओ का समाधान करना पड़ता है। इसे भी जरूर पढे : मेडिकल से जुड़े करियर ऑप्शन जिनमे आप करियर बना सकते है ?

ओरल एंड मैक्सिलोफेशियल पैथोलॉजी

डेंटिक्स से जुड़े इस क्षेत्र मे करियर बनाने के लिए दांतों की समस्याओ को लेकर रिसर्च व अलग अलग तकनीकों का इस्तेमाल करके समस्या का समाधान करना पड़ता है.

ओरल सर्जरी

ऑरल सर्जरी के विशेषज्ञों का मुख्य कार्य जबड़े सिर, गर्दन के ट्यूमर्स इत्यादि जैसी समस्याओ का अलग अलग तकनीक से इलाज करना पड़ता है.

ऑर्थो डॉनटिक्स

दांतों की बनावट या संरचना मे या चेहरे की संरचना मे अनियमितता का इलाज करते है।

पेड़ों डॉनटिक्स

इस क्षेत्र मे कार्य करने वाले पेशेवर बच्चों के मसूड़ों जबड़ों और दांतों की देखरेख और सेहत से जुड़ी समस्याओ का समाधान करना पड़ता है। इसे भी पढे :- विदेशी भाषा मे करिअर कैसे बनाए ?

पेरिडो डॉनटिक्स

इन पद पर कार्य करने वाले पेशेवरों का मुख्य कार्य मसूड़ों से संबंधित समस्याओ का समाधान करना पड़ता है.

प्रो स्थो डॉन्टिकस

इस पद पर कार्य करने वाले पेशेवरों का मुख्य कार्य मुंह चेहरे और दांतों के कार्य संचालन में होने वाली किसी भी समस्या को देखते है.

सेल्फ क्लिनिक

इसके अलावा आप बतौर डेन्टिस्ट स्वयं का क्लीनिक भी खोल सकते है, लेकिन खुद का क्लीनिक खोलने के लिए आपके पास लाइसेंस भी जरूर होना चाहिए, यही नहीं भारतीय सैन्य सेवाओं में भी डेंटिस्ट के लिए अलग से भर्ती होती रहती है, जिसमे आप सरकारी नौकरी भी कर सकते है। इसे भी जरूर पढे :- बायोमेडिकल इंजीनियरिंग क्या है

इनकम

जैसे कि हम आपको पहले ही बता चुके है की डेन्टिस्ट के तौर पर आने वाले समय मे आपका भविष्य उज्ज्वल है। इसलिए ऐसे मे यहा पर आपकी कमाई भी अच्छी होती है।

शुरुआत मे आपको जूनियर डॉक्टर से ही शुरुआत करनी पड़ती है। शुरुआत मे आपको चार से पाँच लाख रुपये तक मिल जाते है. लेकिन जैसे जैसे आपका अनुभव और ज्ञान बढ़ता जाता है उसी के हिसाब से आपकी इनकम भी बढ़ती जाती है , जो आप खुद तय कर सकते है। इसे भी पढे :- माइक्रो बायोलॉजी मे करिअर कैसे बनाए.

देश के प्रमुख कॉलेज

  • मौलाना आजाद इंस्टीट्यूट ऑफ डेंटल साइसेंस नई दिल्ली
  • मणिपाल कॉलेज ऑफ डेंटल साइसेंस मणिपाल कर्नाटक
  • डी डी वाय पाटिल विद्यापीठ पुणे
  • गवर्नमेंट डेन्टल कॉलेज शिमला हिमाचल प्रदेश
  • एमएन डीएवी डेंटल कॉलेज सोलन
  • फेकल्टी ऑफ डेन्टिस्टरी जामिया मिलिया इस्लामिया नई दिल्ली
  • अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी
  • पंजाब यूनिवर्सिटी चण्डीगड़
  • चिकित्सा विज्ञान यूनिवर्सिटी काशी हिन्दू यूनिवर्सिटी वाराणसी यूपी

इन लेखों को पूरा पढ़ें।

लेख मे आपने क्या सीखा

इस लेख मे हम आपको डेन्टिस्ट यानि कि दंत चिकित्सा से जुड़े करियर विकल्प के बारे मे सम्पूर्ण जानकारी दी है. इस लेख मे हमने आपको बताया है, कि डेन्टिस्ट कैसे बने Dentist Kaise Bane डॉक्टर कैसे बने Docter Kaise Bane इत्यादि।

अगर आपको हमारी ये जानकारी पसंद आई है तो आप अपनी राय हमे कमेन्ट बॉक्स मे बताए. अगर इस क्षेत्र को लेकर आपका किसी प्रकार का सवाल है, तो आप अपनी राय हमे कमेन्ट बॉक्स मे बता सकते है. हम आपकी पूरी सहायता करेंगे. और इस जानकारी को दूसरे लोगों के साथ भी शेयर करे, ताकि उन्हे भी इसके बारे मे पता चल सके धन्यवाद.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here