Online Business Kaise Start Kare : अपने बिजनस को ऑनलाइन कैसे शुरू ? करे पूरी जानकारी हिन्दी मे

1
372

आज का समय डिजिटल टेक्नोलॉजी का है जिसके कारण धीरे धीरे काम करने के तरीकों मे काफी बदलाव आ रहे है। अब ऑनलाइन बिजनस की डिमांड काफी बढ़ती जा रही है। कोविड आने के बाद ये खेल एकदम पूरी तरह से बदल गया यही कारण है, कि अब केवल ऑनलाइन बिजनस ही तेजी से ग्रो कर रहे है। आने वाले समय मे आपको और भी ज्यादा ऑनलाइन बिजनस देखने को मिलेंगे।  

वर्तमान समय को देखते हुए अब ज्यादातर लोग ऑनलाइन बिजनस शुरू करने के बार मे ही सोच रखते है, लेकिन उन्हे इसके बारे मे सही जानकारी न होने के कारण वे शुरू करने से डरते है उन्हे डर रहता है, कि कही उनसे कुछ गलत न हो जाए, ताकि उन्हे और भी ज्यादा नुकसान उठाना पड़े।  

ऐसे मे अगर आप भी उन्हे लोगों मे से है, जो अपना ऑनलाइन बिजनस शुरू करना चाहते है, लेकिन उन्हे ऑनलाइन बिजनस शुरू करने के बार मैं ज्यादा जानकारी नही है।  तो यह लेख आपके लिए महत्वपूर्ण होने वाला है। इसलिए इस लेख को ध्यानपूर्वक पूरा पढे।  

इस लेख मे हमे आपको बताने वाले है कि अनलाइन बिजनस कैसे शुरू करे online business kaise start kare ई कॉमर्स बिजनस कैसे शुरू करे ecommerce business kaise shuru kare एमजोन सेलर कैसे बने amazon seller kaise bane 

लेख का पूरा विवरण

ऑनलाइन बिजनस क्या है

ऑनलाइन का मतलब होता है- इंटरनेट बिजनस का मतलब होता है। बिजनस यानि कि इंटरनेट के माध्यम से किया जाने वाला बिजनस ऑनलाइन बिजनस कहा जाता है।  जिसमे ,लोगों को घर बैठे प्रोडक्ट या सर्विस प्रदान की जाती है। 

ऑनलाइन बिजनस Online Business को कोई भी व्यक्ति कही पर भी  बैठकर शुरू कर सकता है और पूरी दुनिया मे अपने प्रोडक्ट बेच सकता है। ऑनलाइन बिजनस शुरू करने के लिए आप बहुत कम खर्चे मे शुरू कर सकते है। 

जैसे कि आपने  देखा होगा कि अगर आपको घर मे किसी प्रकार के प्रोडक्ट की जरूरत है, तो आप ई कॉमर्स की साइट्स फ्लिपकार्ट या ऐमज़ान से ऑर्डर कर सकते है।  कुछ ही दिनों  मे वह प्रोडक्ट आपके पते पर भेज दिया जायेगा। 

इसी प्रकार अगर आपको खाना ऑर्डर करना है तो उसके लिए जमेटो , स्वीगी इत्यादि ऑनलाइन पोर्टल है। जॉब सर्च करने के लिए नौकरी डॉट कॉम , साइन । डॉट कॉम मोनस्तर है। 

यानि कि आज के समय मे आपको अलग अलग क्षेत्रों से जुड़े ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्म मिल जाएंगे जिनका आप फायदा ले सकते है। आप इनकी तर्ज पर अपना खुद का बिजनस भी शुरू कर सकते है। 

ऑनलाइन बिजनस Online Business शुरू करने के लिए आपको लैपटॉप , इंटरनेट के अलावा बहुत कम रकम की जरूरत होती है। ऑनलाइन बिजनस के माध्यम से आप अपने प्रोडक्ट या सर्विस की बिक्री दुनिया मे कही पर भी कर सकते है और अच्छी कमाई कर सकते है। 

अगर आपके पास किसी प्रकार का फिजिकल प्रोडक्ट नहीं है।  तो आप अपनी सर्विस के जरिए के बीजनस शूर कर सकते है, जैसे कि ऑनलाइन टीचिंग, काउंसिल इत्यादि 

ऑनलाइन बिजनस कैसे शुरू करे Online Business Kaise Start Kare

online business kaise kare

बिजनस नाम चुने 

अगर आप ऑनलाइन दुनियां मे अपना बिजनस शुरू करना चाहते है, तो सबसे पहले आपको अपने प्रोडक्ट और सर्विस के अनुसार एक नाम का चयन करना होगा। जो आपके बिजनस की एक अलग पहचान देता है। जैसे कि ऐमज़ान , फ्लिपकार्ट , ओला , यूबर , मेकमाई ट्रिप इत्यादि। 

नाम वही चुने जो कुछ युनीक भी हो और आपके प्रोडक्ट या सर्विस का शूट भी करे। 

जब आपका बिजनस धीरे धीरे ग्रो करता है तो आप अपने बिजनस के नाम के आधार पर कंपनी रजिस्टर भी करवा सकते है, ताकि वो दूसरा प्रसन आपके नाम का इस्तेमाल न कर सके। 

इसे भी जरूर पढे :- डिजिटल मार्केटिंग मे करिअर कैसे बनाए |

दुनिया मे आज जितनी भी बड़ी बड़ी कंपनीया आप देखते होंगे।  शुरुआत मे ये एक छोटे से नाम से शुरू हुई थी लेकिन दुनिया मे आज इनकी अलग ही पहचान है। 

जीएसटी रजिस्ट्रेशन करवाए

अगर आप अपने बिजनस को सही तरीके से करना चाहते है, ताकि बाद  मे आपको आयकर विभाग की तरफ से टैक्स को लेकर परेशानी न हो तो, आपको अपना जीएसटी नंबर जरूर लेना चाहिए। 

Online Business Kaise Start Kare

अगर किसी भी व्यक्ति के बिजनस का सालाना टर्न ओवर 40 लाख रुपये से ज्यादा है तो ऐसे मे उसे जीएसटी रजिस्ट्रेशन जरूर करवाना चाहिए। 

लेकिन सर्विस सेक्टर के लिए यह राशि केवल 20 लाख रुपये है –

उदाहरण के तौर पर अगर आप ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्म के माध्यम से किसी प्रकार की सर्विस जैसे अनलाइन टीचिंग , न्यूज जानकारी या फिर किसी की काउंसिल करते है। जिसके कारण आपका सालाना टर्न ओवर 20 लाख या उससे भी ज्यादा है, तो ऐसे मे आपको जीएसटी नंबर जरूर लेना चाहिए ये सेवाये सर्विस टेक्स मे आती है। 

अगर आपके ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्म के माध्यम से किसी भी प्रकार का प्रोडक्ट बेच रहे है।  और आपका सालाना टर्न ओवर 40 लाख या उससे भी ज्यादा है, तो ऐसे मे आपको जीएसटी नंबर जरूर लेना चाहिए ये टेक्स गुडस टेक्स के अंतर्गत आता है। 

जीएसटी की जरूरत कहा पर होगी

अगर आप अपने प्रोडक्ट की बिक्री किसी दूसरे थर्ड पार्टी प्लेटफ़ॉर्म जैसे कि एमजोन , फ्लिपकार्ट स्वीगी जमेटो, इंडिया मार्ट इत्यादि के माध्यम से बेचना चाहते है, तो ऐसे मे आपको जीएसटी नंबर लेने की जरूरत होगी। 

इसे भी पढे :- सोशल मीडिया से मार्केटिंग कैसे करे |

प्रोडक्ट को दूसरे राज्यों से खरीदने या बेचने के लिए भी जीएसटी नंबर लेने की जरूरत होती है। इन कामों को शुरू करने के लिए पहले ही जीएसटी नंबर लेना पड़ता है। 

यहा नहीं होगी जीएसटी की जरूरत

अगर आप खुद की वेबसाइट बनाकर किसी प्रोडक्ट या सर्विस को सेल कर रहे है, तो ऐसे मे आपको शुरुआत मे ही जीएसटी नंबर लेने की जरूरत नहीं होती है।  जब आपका बिजनस ग्रो होता है तब आप अपनी सुविधा के अनुसार ले सकते है। 

अगर आप किसी थर्ड पार्टी प्लेटफ़ॉर्म के माध्यम से ई बुक्स सेल कर रहे है।  तब भी आपको जीएसटी नंबर लेने की जरूरत नहीं होती है। 

जीएसटी रजिस्ट्रेशन कैसे करवाए

आज के समय मे जीएसटी रजिस्ट्रेशन करना बेहद ही आसान है। आप खुद भी इनकम टेक्स के ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से जीएसटी नंबर ले सकते है। 

इसे भी पढे :- सोशल मीडिया मैनेजर कैसे बने |

जीएसटी रजिस्ट्रेशन करने के लिए आपको आपको बिजनस कर्ता का आधार कार्ड पैन कार्ड, बिजली का बिल, और एक पासपोर्ट साइज फ़ोटो की जरूरत होती है। 

आधार कार्ड का एड्रेस तभी माना जायेगा जब आप अपण बिजनस घर से कर रहे होंगे। लेकिन अगर आप अपना बिजनस घर से बाहर किसी दूसरी जगह पर ऑफिस लेकर कर रहे है तो ऐसे मे ऑफिस आपके नाम है तो उसके कागजों की कॉपी लगती है। 

अगर ऑफिस की जगह किराये पर ली गई है यानि कि दूसरे प्रसन के नाम पर है तो उसे एफ़िडेविट बनवाना होगा, जिसमे लिखा होगा।  कि हम आपको अपनी जगह बिजनस करने के लिए ऑफिस या गोदाम का इस्तेमाल करने की इजाजत दे रहे है, इसको प्रमाणित करना आवश्यक है। 

इसके अलावा आपको रेंट अग्रीमेंट के साथ मकान मालिक के नाम का बिजली बिल की भी जरूरत होती है।

इसे भी पढे : – विधार्थी के जीवन की कुछ बड़ी ग़लतियाँ जो किसी भी विधार्थी को नहीं करनी चाहिए

अगर आप खुद ही  जीएसटी के लिए रजिस्ट्रेशन करना चाहते है तो आप इनकम टेक्स की जीएसटी की  ऑफिसियल वेबसाइट gst.gov.in पर जाकर आवेदन कर सकते है। 

लेकिन अगर आपको आवेदन करने मे किसी प्रकार की परेशानी आ रही है या आप जीएसटी के बारे मे सही तरीके जानना चाहते है, ताकि बाद मे आपको टेक्स को लेकर किसी प्रकार की परेशानी न हो तो आप किसी सीए की मदद भी ले सकते है। 

जीएसटी रजिस्ट्रेशन लेना का सबसे बड़ा फायदा यह होता है कि जरूरत पड़ने पर आपको सरकार या बैंक से आसानी से बिजनस लोन आसानी से मिल सकता है।  

ऑनलाइन बिजनस करने का पहला तरीका (खुद की वेबसाइट बनाकर)

अगर आप अपने बिजनस के लिए वेबसाइट बनाना चाहते है तो आपको कुछ स्टेप फॉलो करने होंगे। 

डोमेन नेम ले

जब आप अपने बिजनस के लिए किसी नेम का चुनाव करते है तो सबसे पहले आपको उस नेम से वेबसाइट Website बनाने के लिए डोमेन नेम भी खरीदना होता है अगर आपके नेम से किसी और ने साइट बनाई हुई है तो फिर आप उस नेम से साइट नहीं बना सकते है।

Online Business Kaise Start Kare

इंटरनेट पर एक नाम से केवल एक ही  साइट बन सकती है। इसलिए अगर अपने बिजनस के लिए कोई ऐसा नेम चुना है।  जिस नेम से पहले किसी और ने साइट बनाई हुई है, तो आपको अपना ऑनलाइन बिजनस शुरू करने के लिए बिजनेस से रिलेट करता हुआ  कोई ऐसा नाम चुनना होगा।  जिस नाम से पहले किसी दूसरे से साइट न बनाई हो। 

डोमेन नेम अविलेबल है या नहीं उसे खरीदने के लिए आप Godaddy , Hostinger इत्यादि साइट का इस्तेमाल कर सकते है। 

डोमेन नेम की कीमत

जब आप अपने बिजनस के अनुसार डोमेन मिल जाता है, तो आपको उस नेम को खरीदने के लिए उसकी कीमत भी चुकनी होती है। डोमेन की कीमत 99 रुपये से शुरू होकर लाखों करोड़ों रुपये तक भी होती है। 

इसे भी जरूर पढे :- फेसबुक पर भूलकर भी न करें ये काम, नहीं तो ब्लॉक हो जाएगा

आपके डोमेन या बिजनस नेम जितना ज्यादा युनीक होगा आपका डोमेन उतना ही महंगा होगा। 

इसलिए बिजनस शुरू करने के लिए कोई अच्छा और सस्ता डोमेन ही खरीदे जिसे सर्च करने मे आपको थोड़ा समय लग सकता है।  इससे आप कम पैसों मे अच्छा डोमेन खरीद सकते हो। बहुत सी होस्टिंग कंपनिया होस्टिंग के साथ फ्री डोमेन भी देती है। 

होस्टिंग खरीदना

होस्टिंग Hosting का मतलब डिजिटल क्लाउड स्पेस है। यानि कि आपको वेबसाइट बनाने के लिए कितनी जगह चाहिए यानि कि जिस प्रकार आप किसी भी शहर मे रहने के लिए किराये पर रहते है और उसका किराया चुकाते है जितना अच्छा आपका रूम होता है उसी हिसाब से आपको  किराया चुकाना होता है।

Online Business Kaise Start Kare

डिजिटल दुनियां मे वेबसाइट बनाने के लिए इसे होस्टिंग बोला जाता है।जिसमे आपकी वेबसाइट का डेटा होता है।  फिर वही डेटा यूजर्स को दिखाई देता है। 

वेबसाइट का स्पेस 1 जीबी से लेकर 50 जीबी या उससे भी अधिक हो सकता है। ज्यादातर वेबसाइट के लिए 10 जीबी से लेकर 20 जीबी डेटा बहुत होता है। 

आपकी वेबसाइट कितने पेज की होगी और आपकी वेबसाइट मे कितनी वीडियो और इमेज होगी। इससे ही आपकी वेबसाइट का स्पेस तय होता है। इसके अलावा वेबसाइट की सुरक्षा के लिए ज्यादातर होस्टिंग कंपनिया एसएसएल सर्टिफिकेट की सुविधा भी देती है। 

होस्टिंग के प्रकार

 शेयर्ड होस्टिंग

शेयर्ड होस्टिंग का मतलब होता है कि एक ही सर्वर पर बहुत सी वेबसाइट कनेक्ट होगी जिसमे लिमिटिड स्पेस होता है।  उदाहरण से समझते है

इसे भी पढे :- ऑनलाइन मीडिया में करियर कैसे बनाये

मान लीजिए अगर किसी घर मे बहुत सारे से कमरे है। आप उस पूरे घर को किराये पर नहीं लेना चाहते है, क्योंकि आपके पास पूरे घर का किराया देने का बजट नहीं है और न ही आपको पूरे घर के स्पेस की जरूरत है ऐसे मे आप उस घर मे से सिर्फ एक घर ले सकते है। 

इसी प्रकार होस्टिंग अगर 50 जीबी की है, तो आप उसमे से अपने डेटा के अनुसार स्पेस ले सकते है। 

डेडीकेटिड होस्टिंग

 इस होस्टिंग हो वीपीएस यानि कि वर्चुअल प्राइवेट सर्वर के नाम से भी जाना जाता है।  जिसमे एक ही यूजर को होस्टिंग का पूरा सर्वर मिलता है। इसमे स्पेस की कोई लिमिट नहीं होती है। 

दुनिया की बड़ी बड़ी वेबसाइट इसी होस्टिंग का इस्तेमाल करती है।  इस होस्टिंग मे वेबसाइट पर ट्रेफिक बढ़ने पर इसका सर्वर डाउन नहीं होता है। 

होस्टिंग की कीमत

होस्टिंग के लिए अलग अलग प्लेटफ़ॉर्म है जो यूजर्स को उनकी सुविधा के अनुसार फीचर्स और स्पेस देते है उसी के अनुसार वे चार्ज करते है। अगर आप बिजनस साइट बनाना चाहते है, तो आप 10 जीबी से लेकर 50 जीबी तक के स्पेस वाली होस्टिंग ले सकते है।  

इसे भी जरूर पढे :- कंप्युटर साइंस इंजीनियर कैसे बने |

आपकी वेबसाइट किससे रेलेटिड होगी उससे भी साइट का स्पेस तय होता है। अगर आपकी वेबसाइट ई कॉमर्स या ई लर्निंग है, तो आपकी साइट का स्पेस भी उतना ही ज्यादा होगा इससे आपकी होस्टिंग का खर्च भी बढ़ेगा। 

अगर आप होस्टिंग 3 से 5 साल से लिए लेते हो आपकी आधी कीमत कम हो जाती है। 

होस्टिंग कंपनिया

अगर आप गूगल पर सर्च करोगे तो आपको होस्टिंग के लिए बहुत सी वेबसाइट मिले जायेगी। जिनसे आप साइट बनाने के लिए होस्टिंग खरीद सकते है।  लेकिन इनमे से कौन सी कंपनी यूजर्स को अच्छी सुविधा प्रदान करती है।  

किस कंपनी की होस्टिंग आपके लिए बेहतर होगी इसके लिए हमने आपके लिए कुछ होस्टिंग कंपनियों के नाम बता रहे है जिनसे आप होस्टिंग खरीद सकते है। 

वेबसाइट बनाना

अगर आप ऑनलाइन बिजनस Online Business करना चाहते है तो सबसे बेहतर तरीका है। खुद की वेबसाइट बनाने का जिसके माध्यम से आप खुद के किसी भी प्रोडक्ट या सर्विस को सेल कर सकते है। आपका प्रोडक्ट या सर्विस कैसी होगी उसके अनुसार ही आपकी वेबसाइट डिजाइन की जाती है। आपकी वेबसाइट का पूरा कंट्रोल आपके हाथ मे ही होता है। 

Online Business Kaise Start Kare

इसमे आप अपना बिजनस किसी थर्ड पार्टी प्लेटफ़ॉर्म के माध्यम से नहीं करते है। जिसके कारण आपका थर्ड पार्टी प्लेटफ़ॉर्म को दिए जाने वाला चार्ज की बचत होती है। 

अगर कोई भी कस्टमर आपकी वेबसाइट के माध्यम किसी प्रोडक्ट या सर्विस को खरीदता है, तो वो आपकी साइट के माध्यम से ही पेमेंट्स करता है।  ये पेमेंट्स आप सीधे अपने  अकाउंट मे प्राप्त करवा सकते है। 

वेबसाइट बनने का प्लेटफ़ॉर्म 

अगर आपको कोडिंग नहीं आती है तो भी आप बिना कोडिंग के वेबसाइट बना सकते है। वेबसाइट बनाने के लिए आप वर्डप्रेस का इस्तेमाल कर सकते है। जिसमे आप अपनी जरूरत के अनुसार फीचर्स जोड़ कर सकते है आज के समय मे सबसे ज्यादा वेबसाइट इसी प्लेटफ़ॉर्म पर बन रही है।  

इसे भी जरूर पढे : ऑनलाइन कोर्स कैसे करे।

अगर आपको बिल्कुल भी कोडिंग नहीं आती है, तो वर्डप्रेस आपके लिए सबसे बेस्ट ऑप्शन है।  

कंटेन्ट ऐड करे

 वेबसाइट बनाने के बाद  उसमे अपने बिजनस के अनुसार कंटेन्ट ऐड करे। कि आप किस प्रकार के प्रोडक्ट या सर्विस सेल करना चाहते है या आप अपने प्रोडक्ट या सर्विस के बारे मे भी डीटेल मे समझा सकते है ताकि कस्टमर उनके बारे मे सही तरीके से जान सके। 

उदाहरण के तौर पर अगर आप अपनी साइट के माध्यम से पुस्तक बेचना चाहते है, तो आपको साइट पर पुस्तकों के बारे मे सही तरीके से समझना होगा और उन सभी पुस्तकों की फोटो ऐड करनी होगी जिन्हे आप बेचना चाहते है।

इसे भी जरूर पढे : मार्किट एनालिस्ट कैसे बने।

अगर आप अपनी साइट के लिए कंटेन्ट दूसरों से लिखवाते है, तो वो भी कम से कम एक रुपये प्रति शब्द चार्ज करते है, इसलिए बेहतर होगा कि आप खुद ही अपने प्रोडक्ट के बारे मे लिखे। 

वेबसाइट डिजाइन करना

  • वेबसाइट पूरी तरह से तैयार हो जाने के बाद अब आपको उसे अच्छे से डिजाइन करना होता है, ताकि जो कोई भी कस्टमर आपकी साइट को देखे उसे एकदम अटरटेक्टिव और विश्वसनीय लगे । 
  • वर्डप्रेस पर वेबसाइट बनाकर उसे डिजाइन करना बेहद ही आसान है। यहा पर आपको पहले से बने हुए आपकी वेबसाइट के अनुसार टेम्पलेट मिल जाते है। आप उन्हे अपलोड करके कस्टमाइज कर सकते है। 
  • वो भी बिना कोडिंग के  यूट्यूब पर ऐसे बहुत से वीडियो मौजूद है।  जिन्हे देखकर भी आप अपनी वेबसाइट को डिजाइन कर सकते है। 
  • वेबसाइट को डिजाइन करते समय उसे यूजर फ़्रेंडली बनाए।  ताकि अगर कोई भी यूजर आपकी साइट अपर विजिट करे तो सब कुछ आसानी से समझ मे आ सके। 
  • अगर आपके पास अच्छा बजट है, तो आप अपनी वेबसाइट बनवाने और उसे डिजाइन करवाने के लिए किसी डिजिटल मार्केटिंग एजेंसी या फिर वेब डेवलपर की भी मदद ले सकते है। 
  • अगर आप वेबसाइट बनना खुद चाहते है, तो आप ऑनलाइन कोर्स भी खरीद सकते है जिसमे आपको पूरी वेबसाइट बनने का स्टेप बाई स्टेप तरीका बताया गया है।  जिसकी कीमत भी किसी थियेटर मे देखी जाने वाली फिल्म की कीमत से कम ही है। 

वेबसाइट को ऐप से जोड़े

अगर आप अपने बिजनस की साइट बनवा चुके है, तो आप अपने बिजनसको ज्यादा से ज्यादा यूजर्स के साथ जोड़ने के लिए अगर आपके पास बजट है।  अपनी वेबसाइट की ऐप भी जरूर बनवाए। 

Online Business Kaise Start Kare

अगर आपकी साइट ई कॉमर्स साइट है, यानि कि आप किसी प्रकार के प्रोडक्ट को सेल करते है तो आपको ऐप जरूर बनवानी चाहिए.  क्योंकि आज के समय के ज्यादातर यूजर ऐप के माध्यम से ही किसी भी प्रोडक्ट को खरीदना पसंद करते है। 

ऐप बनवाने की कीमत

अगर आप अपने साइट की ऐप बनवाना चाहते है तो आपको इसके लिए मोटी रकम खर्च करनी होगी। Android और IOS ऐप बनवाने के लिए आपको कम से कम 50 हजार से लेकर एक लाख रुपये तक का खर्च करना होगा उसके आगे ऐप बनवाने के लिए कोई लिमिट नहीं है।

ऐप बनवाने का खर्च इसलिए ज्यादा होता है क्योंकि इसके लिए डेडिकेटिड सपोर्ट की आवश्यकता होती है। साथ ही ऐप के लिए मेन्टिनेसन टीम की आवश्यकता हर समय होती है यही नहीं अगर एंड्रॉइड या आइओएस का कोई वर्जन अपग्रेड होता है।  तो ऐप बनाने वाली टीम को आपके ऐप को तुरंत अपग्रेड करना होता है।  

खुद की वेबसाइट बनाने के नुकसान

  • अगर आप चाहते है, कि आप बिना किसी थर्ड पार्टी प्लेटफ़ॉर्म के माध्यम से अपने प्रोडक्ट या सर्विस को सेल करे, तो उसके लिए आपको खुद का प्लेटफ़ॉर्म (वेबसाइट ) बनाना होता है। 
  • ऐसे मे खुद का वेबसाइट बनाकर सर्विस या प्रोडक्ट सेल करने के लिए सबसे पहले आपके सामने ज्यादा से ज्यादा लोगों तक अपने प्लेटफ़ॉर्म की जानकारी पहुचाकर उनका विश्वास जितना है तभी लोग आपके प्रोडक्ट या सर्विस को खरीदना पसंद करेंगे। 
  • आपको ऑनलाइन दुनिया मे अपने बिजनस की की पहचान बनाने के लिए कम से कम 1 से 2 साल तक लग सकते है, जिसके कारण आपको शुरुआत मे पेशेनस रखना बेहद जरूरी है, नहीं तो आप कभी भी अपने बिजनस को कभी भी ऑनलाइन नहीं कर सकते है। 
  • ऑनलाइन बिजनस शुरू करने पर आपको शुरुआत मे समय लग लगता है।  इसलिए अगर आप अपने बिजनस को ऑनलाइन करना चाहते है तो पहले कोई ऐसा कार्य करते रहे।  जिससे आपको महीने ने इनकम मिलती रहे, ताकि आप अपने खर्च चला सके उसके बाद साइड मे अपने बिजनस को ऑनलाइन करते रहे। 
  • क्योंकि इसे ग्रो होने मे समय लगता है ,ये बात सत्य है कि आपको तब तक कोई कमाई ही न हो जब आपका काम ऑनलाइन चलने लगे आपकी इनकम आपके महीने अरनिंग वाले काम से ज्यादा आने लगे तो आप फिर आप पूरी तरह से अपने ऑनलाइन बिजनस पर कार्य कर सकते है। 
  • जब आप नई वेबसाइट बनाकर किसी प्रोडक्ट या सर्विस को सेल करते है तो लोगों को नए प्लेटफ़ॉर्म के बारे मे ज्यादा जानकारी नही होती है। जिसके कारण वे आपके प्लेटफ़ॉर्म के माध्यम से प्रोडक्ट खरीदने से डरते है क्योंकि इंटरनेट पर ऐसे लाखों प्लेटफ़ॉर्म है। 
  • जिनके माध्यम से लोगों को प्रोडक्ट या सर्विस सेल करने के नाम उनसे पैसा वसूला जाता है या लोगों को प्रोडक्ट के नाम पर नकली प्रोडक्ट डिलीवर किया जाता है।  यही कारण है कि लोगों किसी विश्वसनीय साइट्स से ही प्रोडक्ट खरीदना पसंद करते है, इसलिए शुरुआत मे आपको लोगों का विश्वास जितना होता है जिसमे समय लग सकता है।  
  • अगर आप कम समय मे ही अपने प्लेटफोरम की जानकारी ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुचाना चाहते है, तो आप पैड प्रमोशन का सहारा ले सकते है। पैड प्रमोशन के लिए आपको खर्चा खुद ही उठाना होता है।  जिसमे आपका खर्च बहुत ज्यादा होता है।  

ऑनलाइन बिजनस शुरू करने का दूसरा तरीका (बिना वेबसाइट बनाए)

अगर आप Online Business करने के लिए खुद की वेबसाइट नहीं बनाना चाहते है तो आप बिना वेबसाइट बनाए भी अपना ऑनलाइन बिजनस शुरू कर सकते है। 

थर्ड पार्टी ऐप का इस्तेमाल करे

आज के समय मे ऐसी देश के अंदर ऐसे बड़े बड़े ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्म मौजूद है जो अपने प्लेटफ़ॉर्म के माध्यम से दूसरे के प्रोडक्ट बेचकर अरबपति बने हुए है। ऐमज़ान , फ्लिपकार्ट अलीबाबा इत्यादि। 

ऐसे मे अगर आपके पास किसी प्रकार का प्रोडक्ट है तो आप इन प्लेटफ़ॉर्म के माध्यम से अपने प्रोडक्ट सेल करके अच्छा कमा सकते है। 

प्रोडक्ट आप किसी थोक प्रोडक्ट बेचने वाली कंपनी से खरीदकर इन प्लेटफ़ॉर्म पर एक एक करके बेच सकते है। अलग अलग सेक्टर के लिए अलग अलग ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्म मौजूद है

amazon seller kaise bane

ई कॉमर्स के लिए एमज़ोन फ्लिपकार्ट

कपड़ों के लिए मित्रा , माई जियो

स्वीट्स या भोजन के लिए जमेटो , स्वीगी

मेडिसिन के लिए Practo , Docs App 1MG 

अगर आप इन प्लेटफ़ॉर्म एक माध्यम से अपने प्रोडक्ट को बेचना चाहते है, तो आपको इन साइटस पर सेलर अकाउंट बनाकर रजिस्ट्रेशन करना होगा। 

सेलर अकाउंट बनाने के लिए जरूरी दस्तावेज

  • बिजनसकर्ता का नाम
  • रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर
  • ईमेल आईडी
  • जीएसटी नंबर बैंक अकाउंट और आई एफ एस सी कोड

थर्ड पार्टी पोर्टल से प्रोडक्ट बेचने के फायदे

  • अगर आप किसी थर्ड पार्टी पोर्टल से अपने प्रोडक्ट सेल करना चाहते है, तो आपको कुछ ऐसे फायदे मिलते है। जोकि खुद की साइट बनाकर उससे प्रोडक्ट बेचने के नहीं होते है। 
  •  आप जिस प्रोडक्ट के अनुसार जिस भी प्लेटफ़ॉर्म का चुनाव करते है।  उन प्लेटफ़ॉर्म का कस्टमर बेस बहुत बड़ा है लोगों को उन पर ज्यादा विश्वास होता है,, क्योंकि ये बहुत पुराने प्लेटफ़ॉर्म है और लोगों को अच्छी सुविधा प्रदान कर  रहे है।  ऐसे मे आपको अपने प्रोडक्ट को बेचने के लिए किसी प्रकार की अलग अलग मार्केटिंग करने की जरूरत नहीं होती है। 
  •  ये प्लेटफ़ॉर्म अपनी साइट पर मौजूद प्रोडक्ट की मार्केटिंग खुद करते है जिसके कारण आपका विज्ञापन का खर्च बच जाता है। 
  • इन प्लेटफ़ॉर्म पर प्रोडक्ट बेचने के लिए आपको किसी ऑफिस या गोदाम लेने की जरूरत नहीं होती है आप घर से भी अपना काम शुरू कर सकते है। 
  • ये ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्म प्रोडक्ट की बिक्री बढ़ाने के लिए कस्टमर को नए नए तरीके से ऑफर देते रहते है जिसके कारण आपके प्रोडक्ट की बिक्री बढ़ती है। 

थर्ड पार्टी पोर्टल से प्रोडक्ट बेचने के कुछ नुकसान

  • अगर आप थर्ड पार्टी ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्म के माध्यम से अपने प्रोडक्ट को बेचते हो तो, आपको प्रोडक्ट सेल हो जाने के बाद उसका पेमेंट तुरंत नहीं मिलता है। उसके लिए आपको 15 दिन से लेकर एक महीना तक लग सकता है। 
  • ये प्लेटफ़ॉर्म आपके प्रोडक्ट के साइट केटेगरी और वजन के हिसाब से चार्ज लेते है जो आपको चुकाना होता है। 
  •  कई बार प्रोडक्ट डिलीवर करते समय प्रोडक्ट टूट जाता है जिसका भार भी प्रोडक्ट बेचने वाले सेलर पर ही होता है।  

ऑनलाइन बिजनस करने का तीसरा तरीका (सोशल मीडिया)

आज के समय मे सोशल मीडिया Social Media भी बिजनस का अड्डा बन चुका है कुछ लोग इसका इस्तेमाल सिर्फ मनोरंजन के लिए करते है तो कुछ लोग इसके जरिए अपना बिजनस कर रहे है। 

social media business kaise start kare

ऐसे मे अगर आप भी सोशल मीडिया के जरिए अपना बिजनस करना चाहते है तो आसानी से शुरू कर सकते है। 

फेसबुक 

Facebook को दुनिया का सबसे बड़ा सोशल मीडिया प्लेटफ़ॉर्म माना जाता है जिस पर सबसे ज्यादा यूजर्स मौजूद है ऐसे मे आप इसका फायदा अपने बिजनस के लिए कर सकते है। 

Online Business Kaise Start Kare
  • फ़ेसबुक ने भी अब प्रोडक्ट बिक्री के लिए अपने प्लेटफ़ॉर्म मे मार्केटिंग का फीचर्स ऐड किया है ऐसें मे अगर आपके पास किसी प्रकार के प्रोडक्ट है तो आप फ़ेसबुक के माध्यम से अपने प्रोडक्ट आसानी से बेच सकते है। 
  • फ़ेसबुक पर अपना बिजनस शुरू करने के लिए आपको अपने प्रोडक्ट से रेलेटिड फ़ेसबुक का पेज बनाना होगा। 
  • फ़ेसबुक पेज बनने के बाद उसकी सही तरीके से सेटिंग करे उसे प्रोडक्ट के अनुसार ,मोडिफ़ाई करे। 
  • फ़ेसबुक पेज की सेटिंग करने के बाद उसमे लोगों को कवर पेज ऐड करे। 
  • अब आप इस पेज पर अपने प्रोडक्ट की अच्छी अच्छी फ़ोटो अपलोड करे। 
  • अगर आपके प्रोडक्ट बच्चों से संबंधित है तू प्रोडक्ट के साथ बच्चों की वीडियो भी शूट करके अपलोड कर सकते है। 
  • फ़ोटो या वीडियो अपलोड करते समय उस प्रोडक्ट से संबंधित हेशटैग का इस्टेमाल करे। 
  • आप जीतने अच्छे हेशटैग का का इस्तेमाल करोगे आपके प्रोडक्ट की रीच उतने ही ज्यादा लोगों तक पहुचेगी हालांकि इस प्रोसेस मे थोड़ा समय लग सकता है। 
  • अगर आप कम समय मे अपने प्रोडक्ट की जानकारी ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुचाना चाहते है तो आप पैड प्रमोशन का सहारा भी ले सकते है। 
  • फ़ेसबुक पैड  प्रमोशन कर लिए साथ दिनों के लिए एक हजर रुपये चार्ज करता है उसके बदले फ़ेसबुक रोजाना आपके प्रोडक्ट की जानकारी 100 से 300 लोगों तक पहुचाएगा। 
  • फ़ेसबुक पर पैड प्रमोशन करके का सबसे बड़ा फायदा यह है कि आप अपने प्रोडक्ट के हिसाब से लोकेशन , कस्टमर आयु , सेक्स केटेगरी सलेक्ट करके टारगेटिड ऑडीयंस तक पहुच सकते है। 

इंस्टाग्राम

Online Business Kaise Start Kare

इंस्टाग्राम फेशन प्रोडक्ट मे मामले मे सबसे पोपुलर सोशल मीडिया प्लेटफ़ॉर्म है अगर आपके पास भी फेशन से जुड़े हुए प्रोडक्ट है तो आप इंस्टाग्राम की मदद से उन्हे सेल कर सकते है। 

आप चाहे है तो इंस्टाग्राम इंफ्लुएंसर के जरिए अपने प्रोडक्ट का प्रमोशन भी करवा सकते है जिसके बदले मे इंफ्लुएंसर मोटी रकम चार्ज करते है। 

प्रोडक्ट की ऐड करने के लिए इंफ्लुएंसर आपके प्रोडक्ट की फ़ोटो अपने अकाउंट पर शेयर करते है।  जिसके कारण आपके प्रोडक्ट के बारे मे ज्यादा से ज्यादा लोगों को पता चलता है ऐसे मे आपको इनमे से कुछ कस्टमर मिल जाते है जो आपके प्रोडक्ट को खरीदते है। 

व्हाट्सऐप

अगर आप स्मार्टफोन यूजर है तो आपके मोबाइल मे व्हाट्सऐप ना हो ऐसा हो ही नहीं सकता इसलिए आप व्हाट्सऐप का इस्तेमाल अपने बिजनस के लिए कर सकते है। 

किसी शहर या सीमित दायरे मे बिजनस फैलाने के लिए व्हाट्सऐप सबसे अच्छा ऑप्शन है। अब तो व्हाट्सऐप ने भी खुद को अपग्रेड करके बिजनस व्हाट्सऐप भी लांच किया हुआ है जिसमे आप अपने प्रोडक्ट को ऐड कर सकते है। 

Online Business Kaise Start Kare

व्हाट्सऐप पर बिजनस करने के लिए आप अपने बिजनस के नाम से एक ग्रुप बना सकते है और उसमे जायद से ज्यादा लोगों को ऐड कर सकते है और ऐड किए हुए लोगों को एडमिन बनाकर उनसे भी लोगों को जोड़ने के लिए रिक्वेस्ट कर सकते है इस प्रकार आपके पास एक अच्छे ग्रप बन जाता है। 

इस ग्रप मे आप रोजाना प्रोडक्ट के बारे मे  पोस्ट से कर सकते है। 

उदाहरण के तौर पर अगर आपका फूड या स्वीट्स का बिजनस है तो आप इस ग्रुप मे रोजाना नई नई खाने की डिश  की फ़ोटो पब्लिश कर सकते हिय और एक बेनर भी बनाकर डाल सकते है जिस पर आप व्हाटसऐप नंबर लिख सकते है। 

साथ मे यह भी लिख सकते है कि ऑर्डर करने के लिए इस नंबर पर व्हाट्सऐप कर सकते है इस तरह जिस भी कस्टमर को प्रोडक्ट की जरूरत होगी वो वो आपसे कॉन्टेक्ट कर सकते है। 

जब आपके पास अच्छे कॉन्टेक्ट ली लिस्ट बन जाती है तो उन्हे ग्रुप से निकालकर आप ब्रॉडकास्ट बनाए ताकि आप सभी कस्टमर के पास एक साथ मे हीप्रोडक्ट के बारे  मे जानकारी अपडेट कर सके वो भी बिना ग्रुप के 

ग्रुप मे जब आप मेसेज भेजते हो  तो वहा पर ज्यादा डिशकशन होने की वजह से ज्यादातर कस्टमर उससे बोर हो जाते है फिर वो आपके ग्रुप से रिमूव होने लगते है इससे आपका नुकसान हो सकता है। 

यूट्यूब

Online Business Kaise Start Kare

आज के समय मे सबसे ज्यादा यूजर्स वीडियो देखना पसंद करते है ऐसे मे अगर आप अपने प्रोडक्ट के बारे मे वीडियो बनाकर यूट्यूब पर अपलोड करे। और उसके डिशक्रिप्शन मे प्रोडक्ट को खरीदने का लिंक अपडेट करे। आप जितने ज्यादा प्रोडक्ट की वीडियो बनाकर अपलोड करोगे। उतने ही ज्यादा लोगों तक आपके प्रोडक्ट की जानकारी पहुचेगी इससे आपका बिजनस काफी ग्रो कर सकता है। 

आज आपने क्या सीखा 

कोरोना वायरस के कारण लोगों  की नौकरिया खत्म, हो रही है लोगों के काम धंधे बंद है जिसके कारण उन्हे घर का खर्च चलाने मे काफी परेशानी हो रही है लेकिन इन सब के बावजूद ऑनलाइन बिजनस तेजी से ग्रो कर रहे है जो ग्राहकों घर पर ही उनकी जरूरत के अनुसार प्रोडक्ट को डिलीवर कर रहे है।

इसलिए अगर आप कोई भी व्यक्ति अपने बिजनस को ऑनलाइन शुरू करना चाहता है तो यह लेख उनके लिए महत्वपूर्ण है इसलिए इसे सही तरीके से पढे इसलिए लेख मे हमने ऑनलाइन बिजनस शुरू करने के बारे मे विस्तार से जानकारी दी है।

इस लेख मे हमने आपको बताया है कि अनलाइन बिजनस कैसे शुरू करे online business kaise start kare ई कॉमर्स बिजनस कैसे शुरू करे ecommerce business kaise shuru kare एमजोन सेलर कैसे बने amazon seller kaise bane

अगर आपको हमारी ये जानकारी पसंद आई है तो आप अपनी राय हमे कमेन्ट बॉक्स मे बता सकते है और इस जानकारी को दूसरे लोगों के साथ भी जरूर शेयर करे ताकि वे भी ऑनलाइन बिजनस शुरू करे सके।

अगर ऑनलाइन बिजनस शुरू करने के बारे मे आप ज्यादा जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो आप हमारे एक्सपर्ट्स से भी सलाह ले सकते है।

धन्यवाद

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here