E learning Froud : ई लर्निंग की बढ़ती हुई मांग के कारण फ्रॉड तेजी से बढ़ रहा है

e learning froud kya hai
e learning froud kya hai

अपने पसंदीदा विषयों की पढ़ाई करने  के लिए ई लर्निंग छात्रों के बीच एक आकर्षक प्लेटफ़ॉर्म बन चुका है। जहा से ज्ञान प्राप्त करने के लिए रोजाना लाखों छात्र अपना रजिस्ट्रेशन करते है।लेकिन ऑनलाइन पढ़ाई करना इतना आसान भी नहीं है, जहा पर ऑनलाइन पढ़ाई करने के बहुत फायदे भी है, तो कुछ नुकसान भी है।

इस लेख मे हम आपको जानकारी देने वाले है ई लर्निंग फ्रॉड e learning froud के बारे मे कि किस प्रकार कोई भी विधार्थी ई लर्निंग फ्रॉड से बच सकता है। इसके अलावा हम आपको बताने वाले है कि ई लर्निंग प्लेटफ़ॉर्म से कोर्स खरीदते समय आपको किन बातों का ध्यान रखना होगा ताकि आपका पैसा गलत जगह न चला जाए।

E learning Froud

जब से दुनिया मे करोना महामारी का प्रकोप तेजी से बढ़ा है तभी से ज्यादातर कार्य ऑनलाइन होते जा रहे है। ऐसे मे स्कूल बंद होने के कारण आजकल शिक्षा भी ऑनलाइन होती जा रही है यही कारण है, कि ऑनलाइन पढ़ाई  के लिए ई लर्निंग प्लेटफ़ॉर्म भी तेजी से बढ़ते जा रहे है, लेकिन इन प्लेटफ़ॉर्म मे सही प्लेटफ़ॉर्म की पहचान करना काफी मुश्किल होता है। जिससे कारण इसके दुष्प्रभाव भी तेजी से बढ़ते जा रहे है। जिसके कारण बच्चों की पढ़ाई मे एक बड़ी रुकावट आने लगी है।

ऑनलाइन पढ़ाई करने के लिए विधार्थी जब गूगल पर सर्च करते है तोवहा पर उन्हे बहुत सी वेबसाइट दिखाई देती है और वे वेबसाइट की सही ढंग पहचान नहीं कर पाते है। यही कारण है विधार्थी वेबसाइट मे पूछे जाने वाली अपनी सभी पर्सनल जानकारी फिल कर देते है जिसके कारण उन्हे नुकसान उठान पड़ता है। यदि आप भी ई लर्निंग से जुड़े हुए है तो किसी भी एजुकेशनल वेबसाइट या कोर्स को खरीदने से पहले हमेशा कुछ बातों का ध्यान रखे और इस जानकारी को दूसरे के साथ भी शेयर करे।

अनलाइन डिग्री मान्यता की सही तरीके से जांच करे 

ई लर्निंग की बढ़ती हुई लोकपिरीयता को देखते हुए देश के बहुत से संस्थान ऑनलाइन डिग्री और डिप्लोमा कोर्स की सुविधा दे रहे है। ऐसे मे किसी भी कोर्स मे दाख़िला लेने से पहले पहले उस कॉलेज और कोर्स के बारे मे सही तरीके से जांच करे।

कॉलेज और कोर्स के बारे मे सही जांच करने के लिए आप पहले से उस संस्थान मे पढ़ रहे विधारथियों से फीडबैक ले सकते है। इसके अलावा आप मान्यता प्राप्त ऑनलाइन विश्वविधालय की सूची देख सकते हो। कि आप जिस संस्थान से ऑनलाइन कोर्स करना चाहते है वह मान्यता प्राप्त भी है या नहीं ये सभी जानकारी आपको संस्थान संबंधी वेबसाइट पर भी मिल सकती है।

इसे भी पढे : – अनलाइन फ्रॉड से कैसे बचे

बड़ी संस्थान के नामों से मिलते जुलते फेक नामों से बचे

ऐसे कई बार देखा गया है कि कुछ लोग बड़े संस्थानों के नाम का फायदा उठाकर उन्हे के नाम से मिलता जुलता नाम रखकर विधारथियों को गुमराह करते है।

उदाहरण से हम आपको समझाने की कोशिश करते है – 

इसे पढे :- मनी लेंडिंग मोबाइल ऐप्स लोन से कतई लोन न लें

ऑक्सफ़ोर्ड यूनिवर्सिटी को कौन नहीं जानता ये दुनिया की बड़ी यूनिवर्सिटी मे से एक है अगर कोई ऑक्सफ़ोर्ड टेक्नोलॉजिकल ऑनलाइन यूनिवर्सिटी का नाम रखकर कोई संस्थान खोलता है तो आपको लग सकता है कि ये प्लेटफ़ॉर्म ऑक्सफ़ोर्ड यूनिवर्सिटी का है। लेकिन ऐसा कतई नहीं है। इसलिए बेहतर होगा कि आप फेक नाम से सावधान रहे किसी भी यूनिवर्सिटी मे दाख़िला लेने से पहले उसकी ऑफिसियाल वेबसाइट पर जाकर सही तरीके से जांच करे।

अपनी पर्सनल जानकारी शेयर करने से बचे

ऐसे बहुत से ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्म है जो रजिस्ट्रेशन करवाते समय छात्रों  से बहुत सी पर्सनल जानकारी मांगते है, जैसे कि जन्म तिथि , सोशल सेक्योरिटी नंबर , घर और केम्पस का पता , यूज़र नेम , ई मेल , पासवर्ड , आधार कार्ड , इत्यादि।  

इसे भी पढे : – देश के कुछ प्रमुख ई लर्निंग प्लेटफ़ॉर्म , जहा से आप फ्री मे पढ़ाई कर सकते है

ऐसे मे इस बात की जानकारी लगाना काफी मुश्किल होता है कि ये प्लेटफ़ॉर्म विधारथियों की इस पर्सनल जानकारी का इस्तेमाल किस जगह किया जा रहा है। जिसके कारण विधारथियों के साथ फ्रॉड होने की संभावनए रहती है इसलिए बेहतर होगा कि किसी भी वेबसाइट पर रजिस्ट्रेशन करने से पहले नियमों और शर्तों को को बारीकी से जांच ले। कई बार इसी जानकारी से छात्रों के अकाउंट भी खाली हो जाते है।  

अनलाइन पेमेंट करने से पहले जांच करे 

आज की डिजिटल दुनिया मे ई लर्निंग एजुकेशन का ट्रेंड बढ़ता जा रहा है ऐसे मे देश और दुनिया मे  बहुत से ई लर्निंग प्लेटफ़ॉर्म खुले है। जिनमे कुछ ई लर्निंग प्लेटफ़ॉर्म फ्री एजुकेशन दे रहे है लेकिन उनमें आप अपनी पसंद के अनुसार पढ़ाई नहीं कर सकते है , यानि की इनमें लिमिटेड फीचर होते है।

लेकिन ऐसे भी ई लर्निंग प्लेटफ़ॉर्म है जो आपको अपनी पसंद के अनुसार पढ़ाई करने की सुविधा उपलब्ध कराते है  लेकिन उसके लिए वे आप आपसे कुछ चार्ज लेते है। अब आपके सामने ये बहुत बड़ी समस्या रहती है कि कौन सा ई लर्निंग प्लेटफ़ॉर्म सही है या फेक है।

इसे भी पढे : – सिम स्वाइप फ्रॉड क्या है

ई लर्निंग प्लेटफ़ॉर्म की बढ़ती हुई लोकपिरीयता को देखते हुए गूगल पर फेक ई लर्निंग प्लेटफ़ॉर्म की संख्या भी बढ़ती जा रही है। यही कारण है कि ज्यादातर विधार्थी इन फेक प्लेटफ़ॉर्म का शिकार हो जाते है।  

ऐसे मे बेहतर होगा कि किसी भी ई लर्निंग प्लेटफ़ॉर्म से पैड कोर्स खरीदने से पहले उसकी सही तरीके से जांच कर ले। जिसके लिए आप किसी टीचर या डिजिटल एड्वाइजर से सलाह भी ले सकते है।

फ्रॉड होने पर शिकायत करे चुप न बैठे

अगर आपके साथ भी प्रकार का ई लर्निंग फ्रॉड हो जाता है तो आप सबसे  पहले उस ई लर्निंग प्लेटफ़ॉर्म की वेबसाइट पर दिए हुए नंबर पर ई मेल पर कॉन्टेक्ट करे | अगर किसी भी ऑनलाइन कोर्स की वेबसाइट पर कोई कॉन्टेक्ट डीटेल नहीं है तो उस प्लेटफ़ॉर्म से कोर्स खरीदने से बचे।  

इसे भी जरूर पढे :- फ्री मे गणित कैसे सीखे

लेकिन सावधानी करने के बाद भी अगर किसी के साथ ई लर्निंग फ्रॉड हो जाता है तो फिर चुप न रहे उस पर एक्शन न ले। विधारथियों के साथ फ्रॉड करने वाली वेबसाइट के प्रति सख्त कदम बढ़ाए। ताकि आप दूसरे विधारथियों के साथ होने वाले फ्रॉड होने से बचा जा सके। अगर आप इस प्रकार से प्लेटफ़ॉर्म के प्रति छात्रों को जागरूक करते है तो तो उनके साथ फ्रॉड होने के चांस कम हो जाते है।  

लेख मे हमने क्या सीखा

दोस्तों इस लेख मे हमने आपको विधारथियों के साथ होने वाले ई लर्निंग फ्रॉड के बारे मे जानकारी दी है, ताकि किसी भी विधार्थी के साथ इस प्रकार का फ्रॉड न हो। इस लेख मे हमने आपको बताया है कि ई लर्निंग फ्रॉड क्या है , E learning froud kya hai , ई लर्निंग फ्रॉड से कैसे बचे , E learning froud se kaise bache ई लर्निंग कोर्स कैसे खरीदे।

अगर आपको हमारी ये जानकारी पसंद आई है तो आप अपनी राय हमे कमेन्ट बॉक्स मे बता सकते है। अगर इस लेख को लेकर आपका किसी प्रकार का सवाल या सुझाव है तो आप कमेन्ट बॉक्स मे बता सकते है और इस जानकारी को दूसरे लोगों के साथ भी शेयर करे ताकि  ज्यादा से ज्यादा विधारथियों को इस ई लर्निंग फ्रॉड के बारे मे पता चल सके। धन्यवाद 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here