Digital University Kya Hai : 2022 के बजट सत्र मे डिजिटल यूनिवर्सिटी बनाने की घोषणा हुई, लेकिन क्या आप जानते है कि डिजिटल यूनिवर्सिटी क्या होती है?

Digital University Kya Hai ultimate guider
Digital University Kya Hai ultimate guider

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट 2022 मे डिजिटल यूनिवर्सिटी बनाने की घोषणा की है। जिसका निर्माण हब एंड स्पोक मॉडल के आधार पर किया जाएगा।देश मे कोरोना महामारी के कारण बच्चों की शिक्षा काफी प्रभावित हो रही है। ऐसे मे बच्चों की शिक्षा की प्रभावित न हो उसके लिए सरकार ने डिजिटल यूनिवर्सिटी बनाने का ऐलान किया है। ऐसे मे अब एक सवाल है कि डिजिटल यूनिवर्सिटी क्या है। digital university kya hai hindi,  डिजिटल यूनिवर्सिटी से बच्चों की पढ़ाई कैसे होगी ।

कोरोना महामारी के कारण देश के विधारथियों की पढ़ाई को काफी नुकसान हो रहा है। जिसके कारण स्कूल बहुत कम खुल रहे है। ऐसे मे आगे से देश के विधारथियों को किसी प्रकार का नुकसान न हो। इसलिए देश मे ई-कंटेंट और ई-लर्निंग को बढ़ावा देने के लिए वित्त मंत्री द्वारा डिजिटल यूनिवर्सिटी खोलने का ऐलान किया गया है।

जिसके कारण आने वाले समय मे डिजिटल शिक्षा को बढ़ावा दिया जायेगा। इसके अलावा वन क्लास वन टीवी चैनल कार्यक्रम को भी बढ़ावा दिया जायेगा। जिसके कारण अब विधार्थी टीवी या मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा भाषा मे पढ़ाई कर सकते है।

डिजिटल यूनिवर्सिटी क्या होती है

  • डिजिटल यूनिवर्सिटी ( Digital University ) एक ऐसी यूनिवर्सिटी है। जिसमें विद्यार्थियों को अलग अलग प्रकार के ऑनलाइन कोर्स उपलब्ध कराए जाते है।
  • डिजिटल यूनिवर्सिटी विद्यार्थियों को ज्यादा से ज्यादा लर्निंग कंटेंट उपलब्ध कराने के लिए देश की दूसरी केंद्रीय यूनिवर्सिटी की भी मदद ली जाएगी।
  • डिजिटल यूनिवर्सिटी में टेक्निकल एजुकेशन कोर्सेज सहित अनेकों कोर्सेज की ऑनलाइन पढ़ाई कराई जाएगी।
  • डिजिटल यूनिवर्सिटी का सबसे बड़ा फायदा देश के उन विधारथियों को होगा जो पढ़ाई करने के लिए घरों से कई कई सो किलोमीटर तक जाते है।
  • डिजिटल यूनिवर्सिटी की मदद से अब देश के युवा एक ही प्लेटफ़ॉर्म की मदद से देश की बड़ी बड़ी यूनिवर्सिटियों से कोर्स कर सकेंगे।
  • डिजिटिल यूनिवर्सिटी की मदद से अब घर बैठे कोई भी छात्र देश की टॉप यूनिवर्सिटी से पढ़ाई कर सकेंगे।

डिस्टेंस लर्निंग यूनिवर्सिटी डिजिटल यूनिवर्सिटी से क्यों अलग है

  • देश मे डिस्टेंस उपलब्ध कराने वाली यूनिवर्सिटी पहले से मौजूद है इंदिरा गांधी नेशनल ओपन यूनिवर्सिटी (IGNOU ) और सिक्किम मणिपाल यूनिवर्सिटी है, लेकिन सवाल यह है कि डिस्टेंस यूनिवर्सिटी और डिजिटल लर्निंग में क्या फर्क है।
  • डिस्टेंस लर्निंग के द्वारा शिक्षा उपलब्ध कराने वाली यूनिवर्सिटी ऑनलाइन क्लास की सुविधा प्रदान नहीं करते बल्कि वे छात्रों के कोर्स संबंधित स्टडी मटेरियल कोरियर के द्वारा घर भेजते है। जबकि डिजिटल यूनिवर्सिटी के द्वारा कोई भी छात्र देश के किसी भी कोने में बैठकर ऑनलाइन क्लास अटेंड कर सकता है।
  • डिजिटल यूनिवर्सिटी में अलग अलग विषयों के प्रोफेसर की सुविधा भी होती है। जो छात्रों को अपने विषय का कंटेंट ऑनलाइन उपलब्ध कराते है।
  • डिजिटल यूनिवर्सिटी मे एक साथ लाखों विधार्थी भी ऑनलाइन पढ़ाई कर सकते है जोकी फिजिकली किसी यूनिवर्सिटी मे संभव नहीं है। इसे पढे :- डीप लर्निंग तकनीक क्या है |
  • डिजिटल यूनिवर्सिटी में एक कैंपस होता है, जहां टीचर और स्टाफ होते हैं। जिसके जरिए देश की अलग अलग जगहों पर मौजूद विद्यार्थियों को ऑनलाइन शिक्षा उपलब्ध कराई जाती है।

वन क्लास वन टीवी चैनल

प्रधानमंत्री ई-विद्या योजना के तहत देश मे ई लर्निंग को बढ़ावा देने के लिए 12 लर्निंग टीवी चेनलों को बढ़ाकर 200 चेनल तक किया जायेगा। जिसमे अलग अलग विषयों से संबंधित कंटेन्ट पढ़ाया जायेगा। इन चेनलों पर कक्षा बारहवी तक के सभी विषयों को पढ़ाया जायेगा।ताकि देश के कौन कौने तक इस कंटेन्ट को पढ़ाया जा सके। इसे भी जरूर पढे :- विजुअल्स ई लर्निंग क्या है ?

हब एंड स्पोक मॉडल नेटवर्क क्या है

  • हब एंड स्पोक मॉडल नेटवर्क क्या है जिस मॉडल पर सरकार डिजिटल यूनिवर्सिटी बनाएगी।
  • हब एंड स्पोक मॉडल एक ऐसा मॉडल होता है, जिसमें सब कुछ सेंट्रलाइज्ड ‘हब’ से पैदा होता है और फिर अंतिम कंजम्शन के लिए छोटे स्थानों, यानी ‘स्पोक’ तक जाता है।
  • आसान भाषा मे समझाया जाए तो हब एंड स्पोक मॉडल एक ऐसा मॉडल होता है जिसमे कॉन्टेट को क्रीऐट करके अलग अलग प्लेटफ़ॉर्म पर शेयर किया जाता है। इसे भी जरूर पढे :- मोबाईल लर्निंग के फायदे
  • डिजिटल यूनिवर्सिटी के जरिए छात्रों को इंडियन सोसाइटी फॉर टेक्निकल एजुकेशन (ISTE) के स्टैंडर्ड पर वर्ल्ड क्लास एजुकेशन उपलब्ध कराई जाएगी।

देश की पहली डिजिटल यूनिवर्सिटी India’s first Digital University

इंडिया मे देश की प्रथम डिजिटल यूनिवर्सिटी वर्ष 2021 में ही केरल के टेक्नोसिटी में खोली जा चुकी है। इस यूनिवर्सिटी की स्थापना देश की पुरानी यूनिवर्सिटी इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी एंड मैनेजमेंट केरल (IIITM-K) को अपग्रेड करके की गई है।

इस यूनिवर्सिटी के माध्यम से छात्रों पोस्ट ग्रेजुएट कोर्सेज और टेक्नोलॉजी रिसर्च संबंधित कोर्स कर सकते है। जैसे की आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, कंप्यूटर साइंस, मशीन लर्निंग, इंफॉर्मेटिक्स, अप्लाइड इलेक्ट्रॉनिक्स एंड ह्यूमैनिटीज, साइबर सिक्योरिटी, ब्लॉकचेन, डेटा एनालिटिक्स समेत अन्य इंडस्ट्री आधारित कोर्स

देश की दूसरी डिजिटल यूनिवर्सिटी राजस्थान के जोधपुर मे बनाई जा रही है । जिसका निर्माण लगभग तीस एकड़ जमीन पर लगभग 400 करोड़ रुपये की लागत किया जा रहा है। इसे भी पढे : – देश के कुछ प्रमुख ई लर्निंग प्लेटफ़ॉर्म, जहा से आप फ्री मे पढ़ाई कर सकते है

दुनिया की टॉप डिजिटल यूनिवर्सिटी

दुनिया में केवल डिजिटल कंटेंट उपलब्ध कराने वाली कोई यूनिवर्सिटी नहीं है लेकिन दुनिया की कई टॉप यूनिवर्सिटीज है जो विधरथियों को ऑफ़लाइन शिक्षा के अलावा ऑनलाइन सर्टिफिकेट, डिग्री या डिप्लोमा कोर्स की सुविधा भी प्रदान करती है। इसे भी जरूर पढे : ई लर्निंग से संबंधित छात्रों के कुछ डाउट जिसके कारण वे ऑनलाइन पढ़ाई करने से डरते है।

जॉन हॉपकिंस यूनिवर्सिटी 88 ऑनलाइन डिग्री
एडिनबरा यूनिवर्सिटी 66 ऑनलाइन डिग्री
मैनचेस्टर यूनिवर्सिटी 32 ऑनलाइन डिग्री
सिडनी यूनिवर्सिटी 28 ऑनलाइन डिग्री
किंग्स कॉलेज ऑफ लंदन 25 ऑनलाइन डिग्री
ग्लासगो यूनिवर्सिटी 22 ऑनलाइन डिग्री
यूनिवर्सिटी कॉलेज ऑफ लंदन 20 ऑनलाइन डिग्री
नॉर्थवेस्टर्न यूनिवर्सिटी 12 ऑनलाइन डिग्री
कोलंबिया यूनिवर्सिटी 12 ऑनलाइन डिग्री
कैलिफोर्निया यूनिवर्सिटी 10 ऑनलाइन डिग्री

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here