Mobile Learning : मोबाइल लर्निंग मे अपनी ऑडीयंस को कैसे टारगेट करे।

mobile learning kya hai hindi
mobile learning kya hai hindi

जी इंटरनेट आने के बाद डिजिटल टेक्नोलॉजी भी तेजी से बढ़ी है। जिसके कारण विधारथियों के पढ़ाई करने के तरीकों मे भी काफी बदलाव आया है। अब ऐसे मे पढ़ाई करने कि एक और टेक्नोलॉजी तेजी से बढ़ रही है। जिसका नाम है एम लर्निंग

एम लर्निंग ने छात्रों के साथ साथ बचे हुए समय मे प्रोफेशनल्स को भी कुछ नई स्किल सीखने के कुछ बेहतरीन प्लेटफ़ॉर्म दिए है। यहीवजह से है कि आज देश के बड़े से बड़े संस्थान ज्यादा से ज्यादा विधारथियों और प्रोफेशनल्स पर अपनी पकड़ बनाने के लिए एम लर्निंग प्लेटफ़ॉर्म का इस्तेमाल कर रहे है।

अब ऐसे मे अगर आपको अभी तक यह जानकारी नहीं है कि एम लर्निंग क्या होती है तो इस लेख को अंत तक पढे क्योंकि इस लेख मे हम आपको एम लर्निंग टेक्नोलॉजी से जुड़ी सभी जानकारी शेयर करने वाले है। इस लेख मे हम आपको बताने वाले कि मोबाइल लर्निंग क्या है Mobile Learning Kya Hai विधार्थी और प्रोफेशनल्स इस टेक्नोलॉजी का फायदा किस प्रकार ले सकते है।

आज के डिजिटल युग मे किसी भी प्रोडक्ट की शॉपिंग करना, किसी चीज के बारे मे सम्पूर्ण जानकारी प्राप्त करना काफी आसान हो गया है। जिसे आप किसी वेबसाइट या एप्लीकेशन की मदद से आसानी से प्राप्त कर सकते है।

मोबाइल लर्निंग क्या है Mobile Learning Kya Hai

लेकिन अब पढ़ाई करने वाले छात्रों और प्रोफेशनल्स के लिए मोबाइल , लर्निंग एक बेहतरीन प्लेटफ़ॉर्म बन चुका है। बीते कुछ समय पहले मोबाइल लर्निंग को लेकर किए गए।

एक सर्वे के अनुसार वर्ष 2018 मे कॉर्पोरेट सेक्टर के 21 % लोगों ने इस बात को स्वीकार किया था, कि उनके कर्मचारी अपनी स्किल को निखारने या कुछ नई स्किल को सीखने के लिए मोबाईल लर्निंग का इस्तेमाल करते है। वही दूसरी और यह संख्या तेजी से बढ़कर 2018 मे 40 प्रतिशत तक पहुच गई और आने वाले समय मे यह संख्या और तेजी से बढ़ने वाली है।

मार्केट मे मोबाइल लर्निंग के लिए अलग अलग प्लेटफ़ॉर्म खुलते जा रहे है जिनमे काफी कॉमपीटीशन है। यही कारण है कि अब लोगों ऐसे प्लेटफ़ॉर्म को चुनना पसंद करते है। जो लर्निंग की अच्छी सुविधा प्रदान करते है। अब हम जानते है कि मोबाईल लर्निंग को सफल बनाने के लिए हमेशा किन किन बातों का ध्यान रखे।

अपने टारगेटिड लरनर्स की पहचान करे

कोई भी व्यक्ति किसी भी बिजनेस मे तभी सफल हो सकता है जब वह अपनी टारगेटिड ऑडियंस को पहचानकर उसके अनुसार अपने प्रोडक्ट को सेल करता है। टीक उसी प्रकार लर्निंग प्लेटफ़ॉर्म भी तभी सफल हो सकते है। जब वे अपने टारगेटिड लरनर्स की पहचान कर लरनर्स की जरूरतों को पूरा करते है उनकी जिज्ञासा को बखूबी पूरा करते है।

इसलिए किसी भी लर्निंग प्लेटफ़ॉर्म को बनाने से पहले अपना एक सलेकटिड नीच का चुनाव करे फिर उसके अनुसार अपने नीच संबंधित लरनर्स को टारगेट करे।

इसे भी पढे : – देश के कुछ प्रमुख ई लर्निंग प्लेटफ़ॉर्म , जहा से आप फ्री मे पढ़ाई कर सकते है

आप मोबाईल लर्निंग प्लेटफ़ॉर्म बनाने से पहले आप यह भी जान ले कि आपके लरनर्स उस प्लेटफ़ॉर्म से क्या उम्मीद रखते है और वे मोबाईल लर्निंग के माध्यम से क्या क्या स्किल सीखना पसंद करते है। इसके लिए आप अनलाइन सर्वे भी कर सकते है, जोकि आज के समय मे करना बेहद आसन है सर्वे करने के लिए आप सोशल मीडिया का इस्तेमाल कर सकते है।

अतिरिक्त चीजों को न जोड़े

अगर आप अपने लरनर्स के लिए कोई लर्निंग प्लेटफ़ॉर्म तैयार कर लेते है, तो प्लेटफ़ॉर्म बना जाने के बाद एक बाद उसका अच्छे से आकलन करे कि प्लेटफ़ॉर्म मे पढ़ाई से संबंधित कंटेन्ट के अलावा कोई और अनावश्यक कंटेन्ट तो नहीं है।

इसे भी जरूर पढे :- विजुअल्स ई लर्निंग क्या है ?

मोबाइल लर्निंग मे किसी भी पाठ्यक्रम को जितनी आसान तरीके से समझाया जाएगा उतना ही लरनर्स और आपके लिए फायदा का होगा. ताकि बाद मे पढ़ाई के दौरान युवाओ को किसी प्रकार की कोई समस्या न हो। जिसके कारण वे बार बार आपसे सवाल पूछे, पढ़ाई के दौरान अनावश्यक कंटेन्ट होने से लरनर्स को बोरिंग लग सकता है इसलिए बेहतर होगा कि आप अपने लरनर्स को समझाने के लिए सबसे आसान भाषा का इस्तेमाल करे और हो सके तो उदाहरणों का भी इस्तेमाल करे।

प्रवाह जरूर बनाए

किसी भी प्लेटफ़ॉर्म सफल बनाने के लिए एक प्रवाह की जरूरत होती है टीक उसी प्रकार मोबाइल लर्निंग प्रोग्राम से अपने ज्यादा से ज्यादा लरनर्स को एक साथ जोड़े रखने के लिए प्रोग्राम मे एक प्रवाह की जरूरत होती है।

आपको इस बात का भी ख्याल रखना होगा कि लरनर्स को किसी भी पाठ्यक्रम को समझने के लिए किसी प्रकार की कोई परेशानी न हो, और उन्हे यह भी नहीं लगना चाहिए कि इस कोर्स को खरीदने से उनका पैसा और समय दोनों खराब हो रहे है।

इसे भी पढे : – विधार्थी के जीवन की कुछ बड़ी ग़लतियाँ जो किसी भी विधार्थी को नहीं करनी चाहिए

इसलिए प्लेटफ़ॉर्म पर मोजूद पाठ्यक्रम के प्रवाह पर हमेशा जोर दे। इसके अलावा अगर आप किसी प्रकार के आइकन ऐप या प्लेसहोल्डर को प्रोग्राम में रखते हो इस बात का भी ख्याल रखें कि इनकी वजह से आपके लर्नर्स का ध्यान न भटके।

गलतियों को दूर करे

आपकी एक छोटी से गलती आपका पूरा काम खराब कर सकती है। इसलिए मोबाईल लर्निंग प्रोग्राम तैयार करते समय इस बात का भी जरूर ध्यान रखे, लेकिन अगर आपसे कोई गलती जाने या अनजाने मे हो गई है, तो बेहतर होगा, कि कि आप जल्द से जल्द उस गलती का समाधान करें।

इसे भी जरूर पढे :- फेसबुक पर भूलकर भी न करें ये काम, नहीं तो ब्लॉक हो जाएगा

बहुत सी गलतियों के बारे मे आपको तभी पता चलता है जब आप किसी प्रोसेस से गुजरते है, इसलिए गलतियां होना स्वाभाविक है। घबराए नहीं बस जितना जल्दी हो सके उस गलती का समाधान करें।

अगर आप चाहते है कि आपको अपने प्रोग्राम की गलतियों के मे बारे मे पता चले तो आप उसके लिए अपनी टीम और दोस्तों की भी मदद ले सकते है ताकि जो जिन गलतियों पर आपका ध्यान न गया हो उसके बारे में आपको पता चल सके.।

समय के अनुसार प्रोग्राम में बदलाव करते रहे

किसी भी प्लेटफ़ॉर्म को तैयार करने से पहले उसमे होने वाले लरनर्स व प्रोग्राम की परवर्त्ति को समझना बेहद जरूरी है. अलग अलग प्रकार के प्रोग्राम के लिए आपको लरनर्स और टोपिक्स के अनुसार एम लर्निंग प्रोग्राम मे परिवर्तन करना होगा।

गामीफाइड सेल्स अनलाइन ट्रैनिंग कोर्स के लिए आपको अलग अलग तरह के प्रोग्राम की आवश्यकता होगी.और कंपनियों की पॉलिसी अनलाइन ट्रैनिंग कोर्स के लिए अलग प्रोग्राम है क्योंकि इन दोनों ही प्रोग्राम के टोन और मेसेज अलग अलग है।

इसे भी जरूर पढे :- फ्री मे गणित कैसे सीखे

लेख मे आपने क्या सीखा

इस लेख मे हमने आपको मोबाइल लर्निंग से जुड़ी कुछ हुई कुछ बाते शेयर की है कि किस प्रकार कि कोई भी मोबाइल लर्निंग के माध्यम पढ़ाने वाले अध्यापक आसानी से अपनी ऑडीयंस को टारगेट कर सकते है। इस लेख मे हमने आपको बताया है कि मोबाइल लर्निंग क्या है mobile learning kya hai और बच्चों को इसका फायदा किस प्रकार मिलता है।

इसके बारे मे भी जानिए :- ई लर्निंग फ्रॉड से कैसे बचे ?

अगर आपको हमारी ये जानकारी पसंद आई है तो आप अपनी राय हमे कमेन्ट मे जरूर बताए। इस जानकारी को दूसरे विधारथियों के साथ भी जरूर शेयर करे ताकि उन्हे भी इसके बारे मे पता चल सके धन्यवाद

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here