Aloe Vera Business Kaise Shuru Kare : खेती करना पसंद है, तो करे ऐलोवेरा का बिजनस

0
Aloe Vera Business Kaise Shuru Kare
Aloe Vera Business Kaise Shuru Kare

अगर आपको सुबह से लेकर शाम तक जॉब करना पसंद नहीं है। लेकिन आपको मजबूरन करना पड़ रहा है क्योंकि आपको समझ मे नहीं आ रहा है कि कौन सा काम शुरू करू ताकि मे अच्छी कमाई कर सकु। लेकिन आपके पास बिजनस मे निवेश करने के लिए बहुत कम बजट है तो ऐसा ही एक बिजनस Aloe Vera का भी है। जिसकी आज के समय मे अच्छी डिमांड भी है। 

अगर आप इस बिजनस के बारे मे पूरी जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो लेख को पूरा पढे। इस लेख मे हम आपको एलोवीरा बिजनस के बारे मे पूरी जानकारी देने वाले है, ताकि कोई भी प्रसन इस बिजनस को आसानी से शुरू कर सके। इस लेख मे हम जानेंगे कि एलोवीरा बिजनस कैसे शुरू करे। Aloe Vera Business Kaise Shuru Kare

एलोवीरा का बिजनस प्रकर्ति से जुड़ा हुआ है। यह औषधि के रूप मे इस्तेमाल किया जाता है, इसलिए यह बिजनस एक मुनाफे वाला बिजनस हो सकता है अगर इसकी सही जानकारी प्राप्त करके शुरू किया जाए।  

ऐलोवेरा का बिजनस कैसे करें ?

एलोवेरा Aloe Vera का इस्तेमाल ब्यूटी प्रोडक्ट्स (Beauty products), औषधि (Medicine)और खाद्य पदार्थों(Food Products) किया जाता है। जिसके कारण इसकी डिमांड देश से लेकर विदेशों तक है। इस बिजनस को करने के लिए आपके पास तो ऑप्शन होते है पहला एलोवीरा की खेती करके दूसरा इसका जूस या पाउडर बनाकर। अगर आप खेती करने के लिए जगह है तो आप खेती कर सकते है।

लेकिन अगर आपके पास जगह नहीं है, तो आप इसका जूस या पाउडर बनाने के लिए प्लांट या मशीन लगा सकते है। मशीन या प्लांट लगाने की तुलना मे एलोवीरा की खेती करने मे ज्यादा निवेश करना होता है। एलोवीरा Aloe Vera विटामिन और खनिज से भरपूर है जिसमे एंटीबायोटिक और एंटीफंगल जैसे पदार्थ शामिल है। 

एलोवरा की प्रमुख प्रजातियाँ 

देश मे एलोवेरा की अनेकों प्रजातिया लेकिन उनमे से कुछ ही ऐसी प्रजाति है जिनकी हमारे देश मे खेती की जाती है। जैसे कि  एलो अब्यस्सिनिका,लित्तोराल्लिस, चैन्सिस, इसके अलावा भारत मे इसकी  और भी प्रजाति पाई जाती है।  आईईसी 111269, आईईसी 111271, एएएल1, 

एलोवरा की खेती कैसे करे 

एलोवीरा Aloe Vera की खेती करके के लिए एक हेक्टेयर भूमि मे 40 से  50 टन  तक पैदावार हो जाती है। खेती करने के लिए सबसे पहले खेत की जुताई करके उसमे गोबर खाद , फास्फोरस पोटाश और यूरिया को मिलकर अच्छे से छिड़काव किया जाता है। उसके बाद फिर से खेत की जुताई करके आप इसमे एलोवीरा के पौधों का रोपण कर सकते है।  

एक हेक्टेयर भूमि मे कम से कम 10 टन गोबर  की खाद , 150 किलो , फास्फोरस , 33 किलो पोटाश , 120 किलो यूरिया का इस्तेमाल किया जाता है। 

एलोवरा की खेती करने के लिए स्थान 

इसकी खेती करने के लिए वर्षा और नम क्षेत्र की जरूरत होती है। अगर खेती करने के लिए जमीन थोड़ी ऊंचाई पर हो तो  शुष्क क्षेत्र मे भी इसकी अच्छी पैदावार हो सकती है। दोमट या रेतली मिट्टी को इसकी खेती के लिए बेहतर माना जाता है। पैदावार करने के समय ज्यादा पानी आपकी फसलों को नुकसान पहुचा सकता है। 

एलोवीरा के पौधों की खेती करने के लिए छोटी छोटी क्यारियों को बनाकर उसमे पौधों को लगाया जाता है। एक पौधे की दूसरे पौधे से दूरी लगभग 50 सेंटीमीटर होनी चाहिए। इसकि खेती करना का सबसे अच्छा समय फरवरी – मार्च और जून- जुलाई का महीना माना जाता है। 

एक  हेक्टेयर भूमि में लगभग दस हजार पौधे लगाए जा सकते है। पौधे लगाने के बाद हल्के पानी से इनकी सिंचाई करे। पौधे  लगने के 8 से 9 महीने मे यह कटाई के लिए पूरी तरह से तैयार हो जाता है। एलोवेरा के पौधे  एक बार लगाने के बाद आप इसकी फसल को तीन वर्ष तक काट सकते है। 

पहले वर्ष मे उसकी उत्पादन अक्षमता लगभग 50 टन हो जाती है तो दूसरे वर्ष मे इसके उत्पादन 15 से 20 प्रतिशत तक वृद्धि हो जाती है। 

खर्च कितना आएगा ?

अगर आपके पास खेती करने के लिए पहले से खुद की जमीन है, तो आपको ऐलोवेरा की खेती करने के लिए आपको शुरुआत मे कम से कम 50 हजार रुपये का निवेश करना होगा। लेकिन अगर आपके पास जमीन नहीं है तो आपको उसे रेंट या ठेके पर लेना होगा। एलोवीरा की कटाई करने के बाद आप इसे ऐलोवेरा मैन्युफैक्चरिंग कंपनियों या मंडियों मे बेच सकते है। 

इसे भी पढे : अपने किसी भी ऑफ़लाइन काम को ऑनलाइन कैसे शुरू करे ?

लेकिन अगर आप इसकी खेती नहीं करना चाहते है , तो आप इसका प्लांट लगाकर जेल जूस या पाउडर बनाकर भी बेच सकते है। इस प्लांट को लगाने के लिए आपको कम से कम 4 से 5 लाख रुपये खर्च करने होंगे। 

एलोवेरा बिजनस से होने वाली कमाई 

अगर आप Aloe Vera की खेती का बिजनस शुरू करते है, तो हम यहा पर आपको एक हेक्टेयर जमीन की खेती के हिसाब से कुछ कमाई के आँकड़े बता रहे है।  एक हेक्टेयर जमीन मे आप 50 से 60 हजार रुपये का निवेश करके आप पाँच से छह लाख रुपये तक कमा सकते है।  अगर आपकी खेती की जमीन बढ़ेगी तो आपकी कमाई भी बढ़ेगी। 

इसे भी पढे :बिजनेस की ऑनलाइन मार्केटिंग कैसे करे ?

वही अगर आप अपनी कमाई महीने या दिनों के हिसाब के करना चाहते है, तो आप इसका प्लांट लगाकर लाखों रुपये महीने तक कमा सकते है। एलोवीरा से बनने वाले प्रोडक्ट की मार्केट मे काफी डिमांड है जैसे कि कॉस्मेटिक आइटम्स , मेडिकल, फार्मास्युटिकल, एलोवेरा जूस, लोशन, क्रीम, जेल, शैम्पू इत्यादि इनमे से आप कोई सा भी प्रोडक्ट बनाकर कमाई कर सकते है। एलोवीरा से आप मे आप हैंड वॉश सोप बनाने का व्यवसाय भी शुरू कर सकते है। 

एलोवेरा जैल या जूस को निकालने वाली मशीन कैसे खरीदे 

एलोवेरा जेल, जूस या पाउडर बनाने वाली मशीन को आप मार्केट मे आसानी से खरीद सकते है या आप इसे इंडियमार्ट ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्म से भी खरीद सकते है,।  

एलोवेरा जैल या जूस के बिजनस शुरू करने के लिए सरकारी दस्तावेज यार लाइसेंस कैसे ले

  • अगर आप एलोवीरा की खेती करते है, तो आपको किसी कागजी कानूनी प्रकिरीय से होकर नहीं गुजरना पड़ता है। लेकिन अगर आप एलोवीरा का मनयुफेकचरिंग प्लांट लगाकर उसे प्रोडक्ट, जेल या फिर जूस बनना चाहते है, तो आपको कागजी प्रकिरीय से होकर गुजरना होता है। उसके लिए आपको विशेष लाइसेंस प्राप्त करना होगा। 
  • सबसे पहले आपको अपनी फेक्टरी या कंपनी का रजिस्ट्रेशन कराना होगा। आपको कंपनी का रजिस्ट्रेशन और लाइसेंस राज्य के सरकारी प्राधिकरण द्वारा करना होता है। 
  • आपको अपने बिजनस को एमएसएमई उद्योग आधार रजिस्ट्रेशन के लिए ऑनलाइन आवेदन करना होगा। 
  • प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड से आवेदन करके आपको एनओसी सर्टिफिकेट भी लेना होगा। 
  • इन सब कामों को करने के बाद आपको आपको अपनी रजिस्टर्ड कंपनी या फर्म का पेन कार्ड या बेंक अकाउंट भी ओपन करना होगा। 

आपने बिजनस के बारे के क्या सीखा

इस लेख मे हमने आपको एलोवीरा से जुड़े हुए बिजनस के बारे मे विस्तार से जानकारी दी है, कि किस प्रकार के कोई भी व्यक्ति एलोवीरा की खेती या इसका प्लांट लगाकर बिजनस शुरू कर सकते है। इस लेख मे हमने आपको बताया है कि एलोवीरा का बिजनस कैसे शुरू करे। Aloe Vera Business Kaise Shuru Kare

अगर आपको यह बिजनस पसंद आया है तो आप अपनी राय हमे कमेन्ट बॉक्स मे बता सकते है। इस बिजनस को लेकर अगर आपका किसी प्रकार का  सवाल है तो आप कमेन्ट के जरिए पूछ सकते है इस बिजनस को दूसरों के साथ भी जरूर शेयर करे ताकि उन्हे भी इसके बारे मे पता चल सके। धन्यवाद 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here