Blogging kaise Start Kare Hindi : लिखने का शौक हैं तो 2022 में ब्लॉगिंग शरू करके कमायें महीने के 1 से 2 लाख

Blogging kaise Start Kare Hindi
Blogging kaise Start Kare Hindi

अगर आप घर बैठे किसी सुरक्षित करियर की तलाश में हैं, आपको पढ़ने लिखने का शौक हैं। कंप्युटर और इंटरनेट की अच्छी समझ हैं। तो ब्लॉगिंग का क्षेत्र आपके लिए एक बेहतर विकल्प हैं। अगर आप ब्लॉगिंग के बारें में नहीं जानते हैं तो इस लेख को अंत तक पढ़ें।

इस लेख को पूरा पढ़ने के बाद आपको किसी से पूछने की जरूरत नहीं होगी। की ब्लॉगिंग से कमाई कैसे करें ऑनलाइन पैसे कैसे कमाए। राइटिंग से पैसे कैसे कमाए। ब्लॉगिंग से पैसे कैसे कमाए। इत्यादि।

यूट्यूब पर आपको ऐसे हजारों वीडियो देखने को मिल जाएगी। जो कहते हैं की मैंने 3 महीने पहले ब्लॉगिंग शुरू की थी। लेकिन आज में ब्लॉगिंग से महीने के एक से दो लाख रुपये या इससे भी ज्यादा कमाता हु।

एक बात तो सत्य है की आप ब्लॉगिंग से लाखों रुपये महीना भी कमा सकते हो लेकिन दो से तीन महीने में कमा लो ये थोड़ा असंभव हैं। आगे की जानकारी शुरू करने से पहले आपको बता दें ब्लॉगिंग का क्षेत्र आप तभी शुरू करें।

अगर आपके अंदर पेशेंस हो आपके अंदर दो से तीन साल बिना पैसों के काम करने के हिम्मत हो। तभी आप ब्लॉगिंग में सफल हो सकते हो। वरना ब्लॉगिंग शुरू करने वाले अनेक आते हैं एक से दो या तीन महीनाकरने के बाद जब उन्हे कुछ रिजल्ट नहीं मिलता तो छोड़कर चले जाते हैं। फिर कहते हैं कि ब्लॉगिंग बेकार हैं।

ब्लॉगिंग क्या है?

ब्लॉगिंग ब्लॉग और ब्लॉगर से संबंधित हैं। ब्लॉग का मतलब किसी के द्वारा लिखा गया कोई लेख या विचार ब्लॉग कहलाता हैं। जबकि ब्लॉग को लिखने वाले को ब्लॉगर कहलाता हैं।

अगर आप गूगल पर किसी भी प्रकार की जानकारी प्राप्त करने के लिए सर्च करते हैं। आपकी स्क्रीन पर जो भी रिजल्ट मिलता हैं। वो ब्लॉग होता हैं। उस ब्लॉग को इंटरनेट पर पब्लिश करने वाले को ब्लॉगर कहा जाता हैं।

इंटरनेट की खोज से पहले लिखना का काम डायरियों में होता था। जिसे लिखने वाले अपने विचारों को बाद में एक बुक के रूप मे तैयार करवा कर सेल करते थे। जिससे उनकी कमाई होती थी। लेकिन अब समय बदल गया हैं आज का समय डिजिटल टेक्नोलॉजी और इंटरनेट का हैं।

अब पुस्तक पढ़ने वाले यूजर कम होते जा रहे हैं। ज्यादातर यूजर अब अपने सवालों के जवाब प्राप्त करने के लिए या किसी भी बुक को पढ़ने के लिए इंटरनेट का इस्तेमाल करते हैं।

अगर आपकी रुचि लिखने में हैं तो आप भी अपने विचारों को इंटरनेट पर लिखकर पब्लिश कर सकते हैं। अगर आपके लेख को यूजर पसंद करते हैं। तो आप ब्लॉगिंग से कमाई भी कर सकते हैं दुनिया में करोड़ों यूजर ब्लॉगिंग करके हजारों से लेकर लाखों करोड़ों रुपये कमा रहे हैं। इसलिए ब्लॉगिंग का क्षेत्र काफी बड़ा हैं।

ब्लॉग के प्रकार

ब्लॉग के अनेक प्रकार होते हैं। आपकी रुचि जिस क्षेत्र या विषय में हैं। आप जिसके बारे में जानकारी रखते हैं। उसी विषय में ब्लॉगिंग करें। यहां पर हम आपको ब्लॉग की टॉप कैटेगरी के बारे में जानकारी दे रहे हैं। जिसमे कोई भी यूजर ब्लॉगिंग कर सकता हैं।

  • पर्सनल ब्लॉग: अगर आप किसी क्षेत्र में महारत रखते हैं तो आप खुद का पर्सनल ब्लॉग बनाकर इंटरनेट पर शेयर कर सकते हैं।
  • टेक ब्लॉग : अगर आपकी रुचि मोबाइल , कंप्युटर , टेक्नोलॉजी गेजेट्स इत्यादि में हैं तो आप इनके इनसे जुड़ी हुई अलग अलग प्रकार की इनफॉर्मेशन इंटरनेट पर शेयर कर सकते हैं। आप इनमे से केवल एक नीच को ही चुनकर उस पर भी ब्लॉग बना सकते हैं।
  • फाइनेंस ब्लॉग : अगर आपको निवेश के बारें में अच्छी समझ हैं आप खुद भी एक निवेशक हैं। इनवेस्टमेंट से जुड़ी भी किसी कंपनी में जॉब करते हैं। तो आप फाइनेंस ब्लॉग बनाकर इंटरनेट पर पोस्ट कर सकते हैं ।जो यूजर फाइनेंस के बारें में सीखना चाहते हैं। वे यूजर आपके ब्लॉग को जरूर पढ़ेंगे।
  • फूड ब्लॉग : अगर आपको रोजाना नई नई रेसिपी बनाना पसंद हैं आपके पास रेसीपी बनाने का अच्छा अनुभव हैं। आप फूड ब्लॉग बनाकर दूसरे यूजर को भी रेसिपी बनाने के बारे में सिखा सकते हो ।
  • ट्रेवल ब्लॉग : अगर आप ट्रेवल गाइड हैं या ट्रांसलेटर हैं। या फिर आपको नई नई जगहों पर घूमना पसंद हैं तो आपको ट्रैवलिंग के बारे में अच्छी जानकारी हो जाती हैं। ऐसे में अगर आपको लिखने का शौक हैं तो आप ट्रैवलिंग ब्लॉग बनाकर लोगों को ट्रैवलिंग के बारे में जानकारी दे सकते हो।
  • एजुकेशन ब्लॉग: एजुकेशन ब्लॉग में आप शिक्षा से संबंधित किसी भी टॉपिक पर ब्लॉग बना सकते हो। जैसे की करियर सलाह , विद्यार्थी टिप्स , पर्सनालिटी डेवलपमेंट , मोटिवेशनल ब्लॉग

ब्लॉगिंग करने के फायदे

  1. ब्लॉगिंग को आप किसी भी आयु में शुरू कर सकते हो। इसकी कोई आयु सीमा नहीं है।
  2. ब्लॉगिंग को आप अपनी जॉब या बिजनेस के साथ पार्टी टाइम भी शुरू कर सकते हो। जब आप ब्लॉगिंग से अच्छी कमाई करने लगे तो आप इसे फुल टाइम कर सकते हो।
  3. ब्लॉगिंग मे आप खुद के बॉस होते हैं। आपको जब भी समय मिले आप तभी फ्री समय में ब्लॉगिंग कर सकते हो।
  4. ब्लॉगिंग करने के लिए आपको किसी ऑफिस की जरूरत नहीं होती हैं। आप इसे अपने घर में कहीं से भी शुरू कर सकते हो।
  5. ब्लॉगिंग में आप जितना लिखते जाओगे आपका मस्तिष्क उतना ही शार्प होता जाएगा। आप उतनी ज्यादा चीजों को सीख पाओगे।
  6. ब्लॉगिंग में आप अपनी जॉब से कई गुना पैसा भी कमा सकते हो।
  7. ब्लॉगिंग शुरू करके आप ऑनलाइन दुनिया में खुद की एक पहचान बना सकते हो। बहुत से ब्लॉगर ऐसा कर चुके हैं।

ब्लॉगिंग कैसे शुरू करें।

अगर आप ब्लॉगिंग शुरू करके खुद की पहचान बनाना चाहते हो तो आपको नीचे दिए गए कुछ बिंदुओं को फॉलो करना होगा।

ब्लॉग नीच का चुनाव करें।

ब्लॉगिंग शुरू करने की दिशा में पहला कदम यह हैं की आपको अपने ब्लॉग का नीच यानी कि विषय का चुनाव करना होगा। की आपको किस विषय में रुचि हैं। अपने ब्लॉग का नीच वही चुने जिसमें विषय या क्षेत्र में आपको रुचि हो।

मान लो अगर आपकी रुचि टेक में हैं और आप दूसरों को देखकर फूड ब्लॉगिंग करने लगते हो तो आप सफल नहीं हो सकते। आपको टेक विषय में ही ब्लॉगिंग करनी होगी। तभी आप ब्लॉगिंग में सफल हो पाओगे।

ब्लॉग का नाम खोजे

आप जिस भी कैटेगरी में ब्लॉगिंग शुरू करना चाहते हो आपको इससे संबंधित एक अच्छा सा नाम सर्च करना होगा। नाम ऐसा सर्च करें। जिस नाम से पहले वेबसाइट न बनी हुई हो। एक नाम से दो वेबसाइट नहीं हो सकती।

नाम की काफी अहमियत होती हैं। इसलिए अपने ब्लॉग की वेबसाइट का नाम रखने के लिए जल्दबाजी न करें। नाम सर्च करने के लिए आप कुछ समय ले सकते हैं। नाम ऐसा हो जिसे सुनते ही यूजर समझ जाए कि आपकी वेबसाइट किस विषय से संबंधित हैं।

डोमेन लें

ब्लॉग का नाम खोजने के बाद आपको उस नाम को अपने नाम पर रजिस्टर करने के लिए डोमेन के तौर पर खरीदना होगा। जिसके लिए आपको डोमेन के नाम के हिसाब कीमत चुकानी होगी।जितना अच्छा आपका डोमेन होगा। आपकी उतनी ही कीमत चुकानी होगी। इसलिए ब्लॉग का नाम खोजते समय एक बार डोमेन वाली वेबसाइट पर आकर आकर उस नाम की कीमत चेक कर लें ।

वरना कभी ऐसा हो की आप नाम तो खोज लो आपको बाद में पता चलें कि इस नाम की कीमत तो लाखों करोड़ों में हैं जोकि डोमेन नेम की होती हैं। तो उस डोमेन को नहीं खरीद पाओगे। इसलिए कम कीमत वाले अच्छे डोमेन ही खरीदें। ऐसे डोमेन काफी होते हैं बस आपको कुछ समय तक उनके बारें में खोजना होगा।

डोमेन खरीदने के लिए आप इन वेबसाइट का इस्तेमाल कर सकते हैं।

  • godaddy
  • hostinger
  • Namecheap.com
  • Google Domains.
  • Dynadot.com

होस्टिंग खरीदें।

डोमेन खरीदने के बाद एक अच्छी ब्लॉग वेबसाइट तैयार करने के लिए होस्टिंग की जरूरत होती हैं। होस्टिंग को हम आसान भाषा में इस प्रकार समझते हैं कि ये एक स्पेस की तरह होती हैं। जहाँ पर आप वेबसाइट बनाते हो। जैसे रहने के लिए किसी जगह की जरूरत होती हैं। फिर उस जगह में रहने के लिए आपको उसे खरीदना होता हैं या जगह को किराये पर लेना होता हैं। तभी आप उस जगह का इस्तेमाल रहने के लिए कर सकते हो।

उसी प्रकार किसी भी प्रकार की वेबसाइट तैयार करने के लिए आपको होस्टिंग की जरूरत होती हैं। जहाँ पर आपकी वेबसाइट को बनाने के लिए जगह मिलती हैं। उस स्पेस का इस्तेमाल करने के लिए आपको एक कीमत चुकानी होगी है।

ये कीमत हर कंपनी के हिसाब से अलग अलग हो सकती हैं। आपको वेबसाइट के लिए स्पेस का इस्तेमाल कितने समय के लिए करना हैं आपको उसी हिसाब से कीमत चुकानी होगी।

आप एक महीने से लेकर 6 महीने , एक साल या पाँच वर्ष तक के लिए होस्टिंग स्पेस खरीद सकते हो। जब आप ब्लॉगिंग शुरू करते हो तो शुरुआत में कम से कम एक वर्ष के लिए होस्टिंग खरीदें। यहां पर हमने होस्टिंग की कुछ टॉप कंपनियों के नाम सुझाए है जहां से आप होस्टिंग खरीद सकते हो।

  • Hostinger
  • Bluehost
  • HostGator
  • A2 Hosting
  • Siteground

Note : हमारे अनुसार ब्लॉगिंग की शुरुआत आप Hostinger, Bluehost से करें क्योंकि यहां पर आपको कम रेट में अधिक समय के लिए होस्टिंग मिल जाती हैं। शुरुआत में आपकी वेबसाइट पर ट्रैफिक कम रहता हैं। इसलिए ये वेबसाइट बेस्ट हैं।

जब आपकी वेबसाइट पर ट्रेफिक बढ़ने लगें दिन का 5 से 10 हजार का ट्रेफिक हो जाए तब आप A2 Hosting, Siteground होस्टिंग इस्तेमाल कर सकते हो। इनकी होस्टिंग महंगी रहती हैं। जिससे वेबसाइट का सर्वर डाउन नहीं होता।

वेबसाइट तैयार करें।

वर्डप्रेस इंस्टॉल करें।

डोमेन और होस्टिंग खरीदने के बाद अब आप दोनों की मदद से अपनी वेबसाइट तैयार कर सकते हैं। वेबसाइट तैयार करने के लिए वैसे तो अनेक प्लेटफ़ॉर्म है लेकिन इन सब में WordPress सबसे पोपुलर और आसान हैं। जहां पर आप बिना कोडिंग के किसी भी प्रकार की वेबसाइट तैयार कर सकते हो। अपनी पसंद के अनुसार वेबसाइट डिजाइन कर सकते हो।

आपने जिस भी प्लेटफ़ॉर्म से होस्टिंग खरीदी हैं आपको उस होस्टिंग के पेनल में जाकर वर्डप्रेस इंस्टाल करना होगा। उसके बाद अपने डोमेन को होस्टिंग के साथ जोड़ना होगा।

इस प्रकार आपकी वेबसाइट तैयार हो जाती हैं। वेबसाइट तैयार होने के बाद आपको वर्डप्रेस की कुछ जरूरत सेटिंग को करना होगा।

वेबसाइट को थीम से डिजाइन करें।

अब वेबसाइट का डिजाइन तैयार करने के लिए आपको वेबसाइट के केटेगीरी के अनुसार थीम इंस्टॉल करनी होगी। वर्डप्रेस थीम आपको फ्री और पैड दोनों मिल जाएगी। फ्री में भी आपको अच्छी अच्छी थीम मिल जाएगी। शुरुआत में आप फ्री थीम का इस्तेमाल कर सकते हो। जब आपकी ब्लॉगिंग से कमाई होने लगे। तब आप पैड थीम खरीद सकते हो।

Plugin इंस्टॉल करें।

वेबसाइट बनाने और डिजाइन करने के बाद वर्डप्रेस पर अपने काम को आसान बनाने के लिए वर्डप्रेस ने करोड़ों Pluginबनाए हुए हैं। ताकि कोई भी ब्लॉगर बिना कोडिंग के अपना काम आसानी से कर सकें। अगर आपकी वेबसाइट ब्लॉगिंग की हैं तो यहां पर हम आपको कुछ Plugin के नाम बता रहे हैं जो आपको अपने WordPress में जरूर इंस्टाल करने होंगे।

  • Jetpack : ये एक फ्री wordpress plugin है जिसकी मदद से आप अपनी वेबसाइट का ग्राफ देख सकते हैं, की आपकी वेबसाइट कैसा प्रमोफॉर्म कर रही हैं ।
  • Akismet Anti-Spam : इस WordPress plugin का इस्तेमाल करके अपनी वेबसाइट पर आने वाले स्पैम कमेंट को रोककर अपने ब्लॉग का नुकसान होने से बचा सकते हो।
  • Yoast SEO : वेबसाइट पर ट्रैफिक लाने के लिए SEO करने की जरूरत होती हैं। ऐसे में अपनी ब्लॉग वेबसाइट का SEO करने के लिए आप Yoast SEO WordPress plugin को इंस्टाल कर सकते हैं। इस plugin की मदद से आप अपनी वेबसाइट का ऑन पेज एसईओ कर सकते हैं।
  • Contact Form 7 : आपको हर किसी वेबसाइट में Contact Us पेज बना हुआ जरूर मिलेगा। इस पेज में एक फॉर्म होता हैं। जिसे फिल करके कोई भी यूजर वेबसाइट पर्सन से कांटेक्ट कर सकता हैं। वेबसाइट में Contact Us पेज में Contact Form बनाने के लिए आपको Contact Form 7 WordPress plugin को इंस्टॉल करना होगा।
  • Wordfence Security : अपनी वेबसाइट को हैकर्स और स्पैमर से सुरक्षित रखने के लिए Wordfence Security WordPress plugin इंस्टॉल करें। ताकि हेकर आपकी वेबसाइट को कोई नुकसान न पहुंचा सकें।
  • UpdraftPlus : वेबसाइट में भविष्य में किसी प्रकार की कोई परेशानी न हो उसके लिए आपके पास वेबसाइट का बैकअप डाटा होना आवश्यक हैं। ऐसे में वेबसाइट का बैकअप डाटा रखने के लिए UpdraftPlus WordPress Plugin को इंस्टाल जरूर करें।

इन सबके अलावा भी और WordPress Plugin हैं। जिसका इस्तेमाल आप कर सकते हैं। लेकिन ध्यान रखे वेबसाइट में किसी भी Plugin को तभी इंस्टॉल करें जब उसकी जरूरत हो। वरना फालतू में Plugin इंस्टाल करने से आपकी साइट की स्पीड कम हो सकती हैं। जिससे वेबसाइट का ट्रैफिक कम हो सकता हैं।

  • Google Analytics Dashboard
  • MailChimp
  • W3 Total Cache
  • AMP for WP – Accelerated Mobile Pages
  • WP-Optimize
  • TablePress
  • Easy Google Fonts
  • WPS Hide Login
  • OneSignal
  • Ad Inserter
  • Social Warfare

रोजाना कंटेन्ट पब्लिश करें।

आप कितना भी अच्छा शोरूम डिजाइन कर लो वहां पर ग्राहक तभी आएंगे जब वहा पर उनकी जरूरत के प्रोडक्ट होंगे। उसी प्रकार यूजर आपकी वेबसाइट सर्च करके तभी आएंगे जब आपकी वेबसाइट पर क्वालिटी कंटेंट होगा। आपको रोजाना अपनी ब्लॉग वेबसाइट पर अपने नीच से संबंधित कंटेन्ट पब्लिश करना होगा।

जब आप रोजाना साइट पर ब्लॉग पब्लिश करोगे तभी आपकी वेबसाइट गूगल सर्च में आएगी। आपको दूसरों से बेहतर कंटेंट पब्लिश करना हैं। कंटेन्ट किसी का कॉपी किया हुआ न हो। वरना आपकी वेबसाइट बंद हो सकती हैं।

कंटेंट कैसे लिखे

अगर आपको कंटेन्ट लिखना नहीं आता हैं लेकिन आप ब्लॉगिंग करना चाहते हैं तो आपको कंटेन्ट लिखने के ऊपर ज्यादा मेहनत करनी होगी। आपकी रुचि जिस भी नीच / विषय में हैं पहले इंटरनेट पर उस विषय से संबंधित दूसरे लोगों के ब्लॉग को ध्यानपूर्वक पढ़ें।

आपको उनके कंटेन्ट की हर चीज पर ध्यान देना होगा। की उन्होंने शब्दों को कैसे जोड़ा हैं। आप जितना ज्यादा ब्लॉग को पढ़ते जाओगे। आप उतना ही ज्यादा कंटेन्ट के बारे में समझ पाओगे। लिखने से पहले आपको आपको रीडिंग की आदत डालनी

होगी। ब्लॉग के अलावा आप अपने विषय से संबंधित किताबें खरीदकर भी पढ़ सकते हो। क्योंकि किताबों की भाषा ब्लॉग से अच्छा होता हैं। आप जिस भी भाषा में ब्लॉगिंग करना चाहते हैं आपको उसी भाषा की ग्रामर सीखनी होगी। तभी आप शब्दों को अच्छे से जोड़ पाओगे।

अब आप रफ कॉपी पर पहले कोई टॉपिक लेकर शुरुआत में कम से कम 100 शब्दों का लेख लिखे। जब आपको 100 शब्दों के लेख लिखने में आसानी हो जाए तब आप शब्दों की संख्या बढ़ा सकते हो।

अभ्यास करने से हर काम आसान हो जाता हैं।

वेबसाइट पर कंटेंट पब्लिश करने का सही तरीका

कंटेंट लिखने को लिए आप एमएस वर्ड या गूगल डॉक्स का इस्तेमाल कर सकते हो। कंटेंट लिखने के बाद अपने कंटेंट को कॉपी करें। अब इस कंटेंट को वेबसाइट पर पब्लिश करने के लिए सबसे पहले new Post पर क्लिक करके राइट क्लिक करके Past a Plain Text करें।

अब इस टेक्टस की अच्छे से Formatting करें। H1, H2, H3, H4 का का इस्तेमाल करें। छोटे छोटे दो या तीन लाइनों के पेराग्राफ रखें। बुलेट पॉइंट का इस्तेमाल करें। आपका कंटेन्ट पब्लिश होने के बाद कैसा दिखेगा उसके लिए आप ऊपर दिए गए preview के बटन पर क्लिक करके प्रीव्यू करके देख सकते हैं।

वेबसाइट का एसईओ करें।

वेबसाइट की फ्री मार्केटिंग करने या ग्रो करने के लिए एसईओ की जरूरत होती हैं। वेबसाइट का एसईओ दो तरीके से होता हैं।

  • ऑन पेज एसईओ
  • ऑफ पेज एसईओ

ऑन पेज एसईओ

ऑन पेज एसईओ का पूरा कंट्रोल ब्लॉगर के कंट्रोल में होता हैं। ऑन पेज एसईओ करने के लिए आपको कंटेन्ट पब्लिश करने से पहले कुछ बातों का ध्यान रखना होगा।

  1. सभी हेडिंग का ( h1, h2, h3, h4, h5 )
  2. पोस्ट टाइटल में मैंन कीवर्ड का इस्तेमाल करें।
  3. पोस्ट के प्रथम पैराग्राफ और आर्टिकल के बीच बीच में कीवर्ड का इस्तेमाल करें।
  4. पोस्ट का permalink में कीवर्ड के अलावा फालतू के वर्ड हटाए।
  5. आर्टिकल की 100 से 120 शब्दों में डिस्क्रिप्शन लिखें।
  6. इमेज में Alt Tag का इस्तेमाल करें।
  7. आर्टिकल में पुराने आर्टिकल को intern link के जरिए जोड़े।
  8. कंटेन्ट के पैराग्राफ दो से तीन लाइनों के ही रखें।

ऑन पेज एसईओ करने के लिए yoast Plugin या rank math अच्छा माना जाता हैं।

ऑफ पेज एसईओ

वेबसाइट का ऑफ पेज एसईओ करने के लिए आपको दूसरों पर निर्भर रहना पड़ता हैं। आपको अपने नीच से संबंधित ऐसे ब्लॉग सर्च करने होंगे जो पुराने हो उन पर अच्छा ट्रेफिक हो। फिर आपको अपनी वेबसाइट का लिंक पुराने ब्लॉगर की वेबसाइट में देने के लिए कन्वेंस करना होगा। बहुत से ब्लॉगर दूसरे ब्लॉगर की वेबसाइट का लिंक अपनी वेबसाइट में देने के लिए चार्ज भी करते हैं।

ब्लॉग से पैसे कैसे कमाए (2022)

ऊपर दिए गए सभी कामों को करने के बाद अब बात आती हैं ब्लॉगिंग से कमाई कैसे होगी। अब हम आपको ब्लॉगिंग के जरिए होने वाली कमाई के अनेक तरीकों के बारे में बता रहे हैं। जिनके जरिए कोई भी ब्लॉगर कमाई कर सकता हैं।

Google Adsense और दूसरे Ads Monetization से

अगर आप इंटरनेट पर आर्टिकल पढ़ते होंगे तो आपने आर्टिकल के बीच में विज्ञापन जरूर देखे होंगे । ये विज्ञापन आर्टिकल में . Google Adsense का जरिए लगाए जाते हैं।

Google Adsense के जरिए वेबसाइट में विज्ञापन दिखाने के लिए आपको पहले Google Adsense से मेल करके परमिशन लेनी होगी। तभी आप वेबसाइट पर विज्ञापन दिखा पाओगे। ब्लॉगर के पास कमाई करने के लिए Google Adsense सबसे बड़ा माध्यम माना जाता हैं ।

Google Adsense के अलावा ब्लॉगर के पास वेबसाइट में विज्ञापन दिखने के लिए दूसरे भी प्लेटफ़ॉर्म हैं।

  • Media.net
  • Ezoic

Affiliate Marketing के द्वारा

अगर आपके ब्लॉग पर रोजाना कम से कम एक से दो हजार यूजर्स भी विजिट कर रहे हैं। आप अपने ब्लॉग के जरिए Affiliate Marketing करके भी कमाई कर सकते हैं ।
Affiliate Marketing करने के लिए आपको ऐसे प्रोडक्ट का चुनाव करना होगा जो आपके ब्लॉग विषय से संबंधित हो।

ऐसा नहीं होना चाहिए की आपका ब्लॉग हैं, टेक का , आप वेबसाइट पर प्रोडक्ट दिखाओ मेडिकल के ब्लॉग के जरिए Affiliate Marketing करने के लिए आप हमारे पुराने ब्लॉग को पढ़कर जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

Affiliate Marketing करने के लिए टॉप प्लेटफ़ॉर्म

  • Amazon Affiliate program
  • Hosting Affiliates
  • Blogging Tools Affiliates

Sponsored Post के द्वारा

जिन ब्लॉगर के ब्लॉग पर अच्छा ट्रैफिक आता हैं। वे Sponsored Post के जरिए अच्छी कमाई करते हैं। आपका ब्लॉग जितना पॉपुलर होगा आपको अपनी वेबसाइट पर Sponsored Post लिखने के उतने ज्यादा रुपये मिलेंगे।

अगर कोई भी कंपनी अपने प्रोडक्ट के बारे में आपके ब्लॉग पर पोस्ट लिखवाती हैं। तो इसे Sponsored Post कहा जाता हैं। जिसके बदले में आपको कंपनी की और से एक कीमत दी जाती हैं। कीमत कितनी होगी वो आप पर निर्भर करता हैं।

गेस्ट पोस्टिंग के द्वारा पैसे कमाए

जब आपका ब्लॉग पुराना और काफी पॉपुलर हो जाता है तो नए ब्लॉगर अपने ब्लॉग पर ट्रैफिक लाने के लिए आपको गेस्ट पोस्ट लिखकर दे सकते हैं। ये भी Sponsored Post की तरह होती हैं बस इसमें फर्क इतना होता हैं की ये वेबसाइट पर ट्रैफिक लाने के उद्देश्य से पोस्ट की जाती हैं।

अगर आप इस अपनी वेबसाइट पर गेस्ट पोस्ट करवाते हो तो आपको फ्री में लिखा हुआ आर्टिकल मिल जाता हैं बस बदले में आपको उस आर्टिकल को अपनी वेबसाइट पर पब्लिश करते समय आर्टिकल के बीच में उस ब्लॉगर की वेबसाइट का लिंक देना होगा। जिसने आपको पोस्ट लिखकर दिया हैं। बहुत से ब्लॉगर गेस्ट पोस्ट पब्लिश करने का चार्ज भी लेते हैं तो कुछ ब्लॉगर फ्री मे भी गेस्ट पोस्ट पब्लिश करवाते हैं ।

बैकलिंक्स देकर पैसे कमाए

अगर आपकी वेबसाइट पर दिन का 5 से 10 हजार ट्रैफिक आ रहा हैं और आपकी वेबसाइट का DA और PA अच्छा है तो आप दूसरे ब्लॉगर को बैंक लिंक देकर भी कमाई कर सकते हैं। बैंक लिंक को हम ऐसे समझते हैं। दूसरे ब्लॉगर के ब्लॉग में अपनी वेबसाइट का लिंक देकर ट्रैफिक लाना।

अपने ब्लॉग को गूगल में रैंक करवाने के लिए बैकलिंक की जरूरत होती हैं। ध्यान रखें आप जिस भी वेबसाइट से बैकलिंक लेना चाहते हैं वो वेबसाइट आपके ब्लॉग से संबंधित होनी चाहिए। इस प्रकार आप दूसरे ब्लॉगर को बैकलिंक देकर कमाई कर सकते हैं।

फिजिकल प्रोडक्ट बेच कर पैसे कमाए

जिस भी विषय से संबंधित आपकी वेबसाइट हैं। और आपकी वेबसाइट पर महीने का अच्छा ट्रेफिक हैं तो आप ब्लॉग के विषय से संबंधित कोई भी फिजिकल प्रोडक्ट बनाकर उसे सेल करके कमाई कर सकते हैं।

आपको मार्केट में ऐसे बहुत से ब्लॉगर मिल जायेगे जिन्होंने ब्लॉग से शुरुआत करके अपनी फिजिकल प्रोडक्ट की कंपनी खोल ली और वे ब्लॉग के जरिए अपने प्रोडक्ट भी सेल कर रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here