Mobile Loan App Fraud Hindi : मनी लेंडिंग मोबाइल ऐप्स से लोन भूलकर भी न लें, नहीं तो उठाना पड़ सकता है भारी नुकसान।

mobile loan app fraud
mobile loan app fraud

पहले लोग लोन लेने के लिए बैंकों और वित्तीय कंम्पनियों के चक्कर लगते थे। लेकिन जब से देश मे 4 जी इंटरनेट और मोबाईल के यूजर्स बढ़े है तब से घर बैठे बैठे मोबाईल से लोन देने वाली बहुत सी कॉम्पनीय तेजी से कार्य कर रही है।

ऐसे मे यूजर्स को लोन लेने के लिए न बैंक जाने की टेंशन रहती है और न ही किसी प्रकार के वेरीफिकेशन की और पैसा आपके बैंक अकाउंट मे ट्रांसफर कर दिया जाता है। लोन मिलने के इस शॉर्ट तरीके के कारण आज देश के ज्यादातर युवा इसमे फसे हुए है।

आज हम आपको इस लेख मे मोबाईल लोन से जुड़ी कुछ ऐसी बाते बता रहे है, जिनके बारे मे सभी यूजर्स को जानना चाहिए ताकि उनके साथ कभी भी किसी प्रकार की समस्या न हो। इस लेख मे हम जानेंगे मोबाईल लोन ऐप फ्रॉड से कैसे बचे। Mobile Loan App Fraud Se Kaise Bache

मोबाइल ऐप से लोन लेने की जरूरत

अगर किसी व्यक्ति को पैसों की जरूरत होती है और उसे ये पैसे किसी से उधार न मिले तो बाद मे उनके सामने एक ही विकल्प बचता है और वो है बैंक या फिर लोन वित्तीय कंपनी

ऐसें मे अगर आपका बैंक मे पुराना रिकॉर्ड्स सही है, तो आपको लोन आसानी से मिल जाता है। जो आपको एक तय समय मे ब्याज दर के साथ चुकाना पड़ता है। आप उस लोन का इस्तेमाल कार खरीदने घर खरीदने , इत्यादि जैसे कामों मे कर सकते है।

लेकिन जरूरत पड़ने पर लोन लेना उन लोगों के लिए परेशानी का सबब बन जाता है। जिनके पास बैंक अकाउंट ही नहीं है और न ही उन्होंने किसी वित्तीय कंम्पनी से लेन देने किया है जिसके कारण उन्हे लोन नहीं मिल पाता है।

पुराने समय मे इसी काम को साहूकार लोग किया करते थे जो जरूरत पड़ने पर लोगों को ब्याज पर पैसे दिया करते थे। लेकिन अब समय बदल गया है, उनकी जगह कुछ वित्तीय कॉम्पनीय या नॉन बैंकिंग फाइनेंस कंपनियों (NBFC) ने ले ली है।

जो आपको घर बैठे एक मोबाईल एप्लीकेशन की सहायता से लोन लेने की सुविधा देती है। लेकिन ये नॉन बैंकिंग फाइनेंस कंपनियों आपको ज्यादा बड़े लोन नहीं देती है ये आपको सिर्फ छोटी रकम वाले लोन ही देती है।

नॉन बैंकिंग फाइनेंस कंपनियाँ क्या होती है ? 

इन कंम्पनियों को हम आपको एक साधारण उदाहरण से समझाते है |आपने बॉलीवुड फिल्म का मशहूर डायलॉग तो सुना होगा कि पैसा भगवान तो नहीं है लेकिन भगवान से कम भी नहीं है।

कुछ इसी तरह से नॉन बैंकिंग फाइनेंस कंपनियां (NBFC) भी है ,कि नॉन बैंकिंग फाइनेंस कंपनियां बैंक तो नहीं है लेकिन किसी बैंक से कम भी नहीं हैं।

ऐसी कंपनी, जो बैंकों की तरह ही काम तो करती है लेकिन बैंकों की तरह भरोसे और गारंटी की बात नहीं करती है। नॉन बैंकिंग फाइनेंस कंपनियो की मोबाईल ऐप्लीकेशन से आप कुछ साधारण सी प्रकिरीय द्वारा ही आसानी से लोन प्राप्त कर सकते है।

इसके लिए न आपका बैंक अकाउंट की जरूरत होती है और न ही किसी गारंटर की, लेकिन बैंको की तरह ही उनकी कंडीशन सख्त होती है जिसके एवज मे ये आपसे बैंको से ज्यादा ब्याज दर वसूलती है।

 देश की कुछ बड़ी मोबाइल से लोन देने वाली ऐप

वैसे तो अगर आप गूगल प्ले स्टोर पर लॉन देने वाली ऐप्लीकेशन के नाम सर्च करोगे तो आपको हजारों ऐप नजर आएगी। जिसमे ज्यादातर फेक भी होती है। जो आपके डाटा का गलत इस्तेमाल भी करती है।

ऐसे मे कई बार आपको सही ऐप्लीकेशन का चुनाव करने मे परेशानी भी होती है। ऐसे मे हम आपको कुछ ऐसी नामी ऐप के बारे मे जिनके माध्यम से आप आसानी से लॉन ले सकते है।

Indiabulls

इस ऐप की सहायता से आप एक हजार रुपये से लेकर 15 लाख रुपये तक का लोन ले सकते है इस लोन की अवधि तीन महीने से लेकर 36 महीने तक की होती है। इस लोन की ब्याज दर 10 % से 13 % तक होती है।

Money Views

इस ऐप की सहायता से आप एक हजार रुपये से लेकर पाँच लाख रुपये तक का लोन ले सकते है।

U Cash

इस ऐप की सहायता से आपको एक हजार रुपये से लेकर 25 हजार तक का लोन मिल सकता है इसकी सालाना ब्याज दर 32. 85 % से लेकर 35.77% तक है इस लोन को चुकाने की अवधि 91 दिनों की होती है।

CashBean

इस ऐप की सहायता से आप एक हजार रुपए से लेकर 60 हजार रुपये तक लोन आसानी से ले सकते है इस लोन की सालाना ब्याज दर 33% फीसदी तक होती है और इस लोन को चुकाने की अवधि 91 से 120 दिनों के बीच होती है। इसे भी जरूर पढे :- अनलाइन फ्रॉड से कैसे बचे.

Rupee Max

इस ऐप की सहायता से आपको एक हजार रुपये से लेकर पाँच हजार रुपये तक का लोन आसानी से मिल जाता है जिसकी ब्याज दर 33% सालाना तक होती है और इस लोन को चुकाने की अवधि 90 से 180 दिनों के बीच होती है।

इसके अलावा भी और बहुत ऐप्लीकेशन है जिनसे आप घर बैठे मोबाईल से लोन ले सकते है जैसे कि MoneyTap, CashE , Credy, LazyPay , Early Salary इत्यादि।

मोबइल ऐप से लोन कैसे मिलता है  ? 

मोबाईल से लोन देने वाली ऐप का मार्केट मे फेमस होने का सबसे बड़ा कारण ही यह है कि इसमे आपको सिर्फ आधार कार्ड और पेन कार्ड से ही लोन आसानी से मिल जाता है।

इसके लिए आपको बैंकों की तरह कागजी पर्करीय  मे इधर उधर के ज्यादा चक्कर नहीं लगाने पड़ते और न  ही किसी गारंटी के तौर पर  गारंटर की जरूरत होती है। इसे भी जरूर पढे :- कपल चैलेंज के अनलाइन फ्रॉड का तरीका है

मोबाईल से लोन लेने के कुछ बड़े नुकसान 

पहला नुकसान

मोबाईल से लोन लेने का सबसे बड़ा नुकसान ये है इसमे कंपनियां आपसे भारी ब्याज दर वसूलती है। जिसमे आपको 10 फीसदी ब्याज से लेकर 30 फीसदी ब्याज तक चुकाना पड़ता है।

उदाहरण के तौर पर अगर आप एक लाख रुपये का लोन लेते है, तो आपको एक वर्ष बाद एक लाख रुपये के एक लाख 30 हजार तक चुकाने पड़ते है जोकि बैंक लोन की तुलना मे बहुत ज्यादा है।

दूसरा नुकसान

मोबाईल से लोन देने वाली ऐप्लीकेशन मे बहुत सी ऐप ऐसी भी होती है, जो बैंकिंग नियमों को ताक पर रख देती है और चोरी छुपे बहुत से अलग से चार्ज लगा देती है।

जिसके बारे मे ग्राहक को नहीं बताया जाता है लेकिन लोन चुकाने के वक्त इन चार्ज के बारे मे ग्राहक को बताया जाता है ऐसे मे मजबूरन ग्राहक को ये रकम भी चुकनी पड़ती है।

तीसरा नुकसान

मोबाईल ऐप से लोन देने वाली कंम्पनियों के साथ अक्सर इस प्रकार कि समस्याएँ होती रहती है जिसका हर्जाना ग्राहक को चुकाना पड़ता है। पेमेंट करने के बाद अमाउंट अपडेट न होने, और गलत रकम पर ब्याज लेने जैसी शिकायतों से लगातार ग्राहक परेशान रहते हैं।

चौथा नुकसान

मोबाईल से लोन देने वाली ऐप गूगल प्ले स्टोर पर हजारों मे मौजूद है जिनमे ज्यादातर फेक ऐप भी होती है ये आपको छोटे अमाउन्ट वाले लोन तो दे देती है लेकिन लोन देने के बाद ये लगातार लोगों को परेशान करते रहते है। इसे भी जरूर पढे :- ऐसे कीवर्ड्स जिन्हे गूगल पर भूलकर भी न सर्च करे

पाँचवा नुकसान

इन ऐप की सहायता से लोगों को जान से मारने तक की धमकीया भी दी जा रही है , इस प्रकार की शिकायतें बहुत सामने आ रही है ,इसके अलावा अश्लील फोटो कॉन्टैक्ट लिस्ट के साथ शेयर करने जैसी आपराधिक शिकायतें भी सामने आईं हैं।

इस प्रकार की परेशानियों से तंग आकार देश के कुछ नौजवान सुसाइड भी कर चुके है जोकि एक चोकाने वाली बात है।

इस प्रकार कि शिकायतें आने के बाद गूगल ने एक्शन लिया है तब जाकर बहुत मनी लैंडिंग ऐप गूगल प्लेस्टोर से हटाई है लेकिन परेशानी अभी भी कम नहीं हुई है ऐसे मे आपको मोबाईल से लोन लेते वक्त बहुत सावधान रहना होगा।

देश मे आगे से लोगों के साथ इस प्रकार कि समस्याएँ न हो तो इसके लिए मोबाईल से लोन देने वाली कंम्पनियों के लिए आरबीआई ने कुछ गाइडलाइंस जारी की है जिनका पालन करना करना अनिवार्य है। इसे भी पढे : – आपको पता भी नहीं चलेगा और आपका बैंक खाता सिम से खाली हो जायेगा

आरबीआई ने फेक लोन ऐप का मामला क्यों उठाया  ?

बीते दिनों से फेक लोन ऐप पर धांधली की शिकायतें लगातार बढ़ती जा रही थी जिसके कारण लोगों को काफी समस्याएँ हो रही थी इसी के चलते  पुलिस ने गुरुग्राम और हैदराबाद के चार इंस्टेंट लोन ऐप्स के फाइनेंस ऑफिसों में  रेड की।

इन लोन ऐप के दो ऑफ़िस गुरुग्राम में और दो हैदराबाद में हैं। इन ऑफिसों  का नेटवर्क  जकार्ता  ( इंडोनेशिया ) से चल रहा था।

पुलिस के अनुसार इन चार ऑफिसों से 30 लोन ऐप्लीकेशन चल रही थी जो अलग अलग तरीकों से लोगों को अपने जाल मे फसाते है। ये सभी लोन ऐप RBI की मंजूरी के बिना लोगों को लोन दे रही थी और लोगों से 20 से 35 फीसदी तक का ब्याज वसूल रही थी। मतलब कि तीन महीने मे ही लोन का पैसा आपको डबल करके चुकाना पड़ता था।  

लेकिन अगर किसी कारण वश आप समय पर किस्त नहीं चुका पाते , तो लोन ऐप वाले लोगों को धमकिया देते थे, यही कारण है कि बहुत से लोग इनकी धमकियों से इतना डर जाते थे। कि वे अपनी जान तक ले लेते थे। हैदराबाद मे तीन लोगों की आत्महत्या के बाद इस प्रकार के मामले सामने आये। इसे भी पढे :- ऑनलाइन शॉपिंग सुरक्षा टिप्स जिनके बारे मे आपको जरूर जानना चाहिए |

इन ऐप्स पर आरबीआई के क्या नियम है ?

  • पिछले वर्षों मे मोबाईल से लोन देने वाली नॉन बैंकिंग फाइनैन्स कंम्पनियों को लेकर देश मे कोई सख्ती नहीं थी जिसके कारण लोगों के साथ धोखाधड़ी बढ़ती जा रही थी | देश मे जब इस प्रकार के मामले तेजी से बढ़े तब जाकर आईबीआई ने कुछ सख्ती दिखाई और गाइड लाइन जारी की है।
  • जो भी नॉन बैंकिंग फाइनैन्स कंम्पनी ग्राहक को लोन देती है तो उसे अपनी पूरी जानकारी ग्राहक को देनी होगी। इसके अलावा ग्राहक को लोन के पैसे किस बैंक या वित्तीय संस्थान से दिए जा रहे है इसकी पूरी जानकारी भी ग्राहक को देनी होगा।
  • अगर कोई ग्राहक NBFC नॉन बैंकिंग फाइनैन्स कंम्पनी से लोन लेता  है तो उस कंम्पनी को एक सेक्शन लेटर ग्राहक के पास भी भेजना होगा सेक्शन लेटर मे लोन की धनराशि और लोन की शर्तों के बारे मे पूरी जानकारी होनी चाहिए ताकि ग्राहक उन सब नियमों को पढ़कर अपनी तरफ से लोन अप्रूवल के लिए हस्ताक्षर करे तभी लोन की प्रकिरीय पूरी मानी जाएगी। इसे भी जरूर पढे : साइबर सेक्स या साइबर बुलिग क्या है। जिसके कारण युवाओ की जिंदगी बर्बाद हो रही है।
  • NBFC नॉन बैंकिंग फाइनैन्स कंम्पनी  के धोखाधड़ी के मामलों मे वह बैंक भी जिम्मेदार माना जाएगा जिसके माध्यम से इसे चलाया जा रहा है जैसे कि बैंक या कोई वित्तीय संस्थान।

RBI ने लोगों को  NBFC कंम्पनियों से लोन लेते समय क्या सावधानियां बरतने की अपील की है?

  • लोग जल्दबाजी मे लोन लेने के चक्कर मे  इस तरह के फर्जीवाड़े का शिकार हो रहे है। अगर संभव हो तो बैंक से ही लोन लेने की कोशिश करे क्योंकि मोबाईल ऐप से लोन लेने पर आपके दस्तावेज़ों के साथ फ्रॉड होनी की संभावनए रहती है।
  • अगर आपको बेंक से लोन नहीं मिल पा रहा है ,और मोबाईल से लोन लेना आपकी मजबूरी है तो एक बार लोन लेने से पहले उस कंम्पनी का रिकॉर्ड जरूर चेक कर ले। मोबाईल से लोन देने वाली कॉम्पनीया ग्राहकों से ज्यादा ब्याज वसूलती है।
  • इसके अलावा इस लोन मे कई ऐसे चार्ज भी छिपे होते है। जिसके बारे मे ये कॉम्पनीय ग्राहकों को लोन लेते समय नहीं बताती। इसलिए बेहतर होगा कि आप कंम्पनी के बारे मे पूरी जानकारी प्राप्त करने के बाद ही लोन के लिए अप्लाई करे।
  • मोबाईल से लोन लेते समय कभी भी अपने KYC दस्तावेज़ की कॉपी अनजान पर्सन को न दे। डेटिंग ऐप्स पर पार्टनर की तलाश कर रहे है, तो हो जाए, सावधान वरना हो सकते है, धोखाधड़ी का शिकार

लोन फ्राड के खिलाफ कहां करें शिकायत ?

अगर आपके साथ  कोई भी NBFC नॉन बैंकिंग फाइनैन्स कंम्पनी  मोबाईल लोन के माध्यम से किसी प्रकार का फ्रॉड करती है, तो आप इसके शिकायत ऑनलाइन कर सकती है। जिसके लिए आरबीआई ने एक वेब पोर्टल लॉन्च किया है। शिकायत करने के लिए आप Sachet RBI वेबसाइट का इस्तेमाल कर सकते है जिस पर आपकी पूरी सहायता की जाएगी।

लेख मे अपने क्या सीखा

आरबीआई ने लोगों को गलत तरीके से डिजिटल प्लेटफॉर्म और मोबाइल ऐप के जरिए लोन लेने वालों को सतर्क रहने को कहा है।

आरबीआई ने एक विज्ञप्ति में कहा कि लोगों को सलाह दी जाती है कि वे इस प्रकार की भ्रामक गतिविधियों को लेकर सतर्क रहें और मोबाइल ऐप के जरिए कर्ज देने वाली कंपनियों की अच्छी तरह से जांच करें।नहीं तो बाद मे आपको इसका ख़ामियाज़ा भुगतना पड़ेगा।

दोस्तों इस लेख मे हमने आपको नॉन बैंकिंग फाइनैन्स कंम्पनियों लोन लेने के बारे मे संपूर्ण जानकारी दी है, कि ये कॉम्पनीया लोगों को जल्दबाजी मे मोबाईल ऐप के माध्यम से लोन देकर किस प्रकार अपने जाल मे फसाती है। जिसके कारण लोग सुसाइड तक कर रहे है। एसी ( AC) के महंगे बिजली बिल से बचने के लिए सोलर एसी लगवाये?

इस तरह की घटनाओं से बचने के लिए हमने आपको इस लेख मे पूरी जानकारी दी है, ताकि देश के किसी भी व्यक्ति के साथ इस प्रकार की घटना न हो।

इस लेख मे हमने आपको बताया है कि मोबाईल से लोन लेते समय आपको किन किस बातों का ध्यान रखना चाहिए मोबाईल ऐप से लोन देने वाली कंम्पनियों के लिए आरबीआई ने कौन सी गाइड लाइन जारी की है।

अगर आपको हमारी ये जानकारी पसंद आई है, तो आप अपनी राय हमे कमेन्ट मे जरूर बताए ताकि हम लोगों को ज्यादा से बैंकिंग या ऑनलाइन फ्रॉड के बारे मे जागरूक करते रहे है और इस जानकारी को दूसरे साथ भी जरूर शेयर करे ताकि देश के किसी भी व्यक्ति के साथ इस प्रकार का फ्रॉड न हो।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here