डेटिंग ऐप्स पर पार्टनर की तलाश कर रहे है, तो हो जाए, सावधान वरना हो सकते है, धोखाधड़ी का शिकार

dating apps and site scams hindi ultimate guider _1
dating apps and site scams hindi ultimate guider _1

डिजिटल टेक्नोलॉजी ने हर काम को बेहद आसान बना दिया। जहा पर हर काम को करवाने के लिए अलग अलग प्लेटफ़ॉर्म मौजूद है। इसलिए अब लोग अपने पार्टनर की तलाश करने के लिए डेटिंग ऐप का इस्तेमाल कर करते है।

आपको ऐसे बहुत से कपल मिल जाएंगे जिन्होंने अपने पार्टनर को डेटिंग ऐपस के माध्यम से ढूंढा है। लेकिन डेटिंग ऐपस का अनुभव सबके लिए सही हो ऐसा संभव नहीं है। बहुत से लोगों डेटिंग ऐपस पर धोधाधड़ी का शिकार भी हो रहे है । जिसको लेकर लगातार केस सामने या रहे है। ऐसे मे आपके साथ डेटिंग ऐपस के माध्यम से धोखाधड़ी न हो। इसलिए इस इस लेख को पूरा पढे। इस लेख मे हम आपको बताने वाले है कि डेटिंग ऐपस स्कैम क्या है। डेटिंग ऐप्स स्कैम से कैसे बचे। dating apps scam se kaise bache, डेटिंग ऐप्स और साइट स्कैम क्या है। dating apps and site scams hindi

फरवरी महीने को प्यार मोहब्बत वाला महीना माना जाता है। जिसकी अलग अलग डेट को कपल अलग अलग प्रकार से सेलिब्रेट करते है। इस महीने मे सिंगल लोग भी अपने लिए पार्टनर की तलाश करते है । इंटरनेट के दौर से पहले लड़के लड़किया अपने प्यार को स्कूल , कॉलेज , कोचिंग सेंटर , मे तलाश करते है। लेकिन इंटरनेट के इस दौर में डेटिंग ऐप पर पार्टनर सर्च करना उनके लिए एक अच्छा ऑप्शन रहता है।

ऐसे मे अगर आप भी डेटिंग ऐपस के माध्यम से अपना पार्टनर तलाश कर रहे है। तो पहले इस लेख को पूरा पढे। ताकि आप प्यार के जाल मे फसकर अपना जीवन बर्बाद करने से बच सको। डेटिंग ऐप्स के माध्यम से धोखाधड़ी के मामले सामने आ रहे है।

डेटिंग ऐप्स स्कैम डॉक्यूमेंट्री

दो फरवरी को The Tinder Swindler नाम से नेटफ्लिक्स पर एक डॉक्यूमेंट्री रिलीज हुई है। जहा पर टिंडर का मतलब डेटिंग ऐप्स से है Swindler का मतलब ठगी से है। ये कहानी फ्रांस के रहें वाले एक युवक शिमोन हएत की जिंदगी से जुड़ी हुई एक रियल घटना पर आधारित है।

जो कि बार टिंडर डेटिंग ऐप्स से धोखाधड़ी केस मे फस चुका है वह फ्रांस पुलिस को चकमा देकर इजराइल भाग जाता है। इसका काम टिंडर ऐप्स के जरिए लड़कियों से दोस्ती करके उन्हे प्यार के जाल मे फसाकर पैसे ऐंठने के था।

नेटफलिक्स पर डॉक्यूमेंट्री रिलीज होने के बाद जब यह घटना सामने आई तो टिंडर ने शिमोन हएत को प्लेटफ़ॉर्म पर बैन कर दिया। ऐसें मे डेटिंग ऐप्स पर किसी के भी प्यार मे पड़ने से पहले आपको एक बार इस डॉक्यूमेंट्री को जरूर देखना चाहिए। ताकि आप ठगी के जाल में फंसने से बच सकें।

डेटिंग ऐप्स केस

केस 1

मुंबई के 65 वर्ष के एक एक व्यक्ति को डेटिंग ऐप्स पर 75 लाख रुपए की चपत लग गई । ये फ्रॉड एक विदेशी महिला के द्वारा किया गया था। व्यक्ति की दोस्ती महिला से सोशल मीडिया के जरिए हुई थी। महिला ने व्यक्ति को डेटिंग ऐप्स पर एनरोल करने के एवज में अलग अलग प्रकार के ऑफर दिए। जिसके कारण महिला ने व्यक्ति को एनरोल कराकर अपने जाल मे फसाकर उसे 75 लाख रुपये का चुना लगा दिया।

केस 2

दिल्ली वसंत कुंज के रहने वाले एक युवक की डेटिंग ऐप्स पर एक लड़की से दोस्ती शुरू हुई। लड़की ने खुद को हाँगकाँग का बताया। धीरे धीरे ये दोस्ती प्यार मे बदलने लगी। जब दोनों के बीच मे लगातार बात होने लगी तो लड़के को लड़की के ऊपर पूरा विश्वास हो गया था।

लेकिन एक दिन ऐसा आया जब लड़के ने लड़की कहने पर एमटी5 पर अकाउंट खोलकर तकरीबन 41 लाख रुपये गवा दिए। जब उसे अपने साथ हुई धोखाधाडी का पता चला तो उसने नजदीकी थाने मे जाकर इसकी सूचना दी। लेकिन अब उसे पैसे मिलना संभव नहीं है । इसे भी पढे : – कपल चैलेंज क्या है | ये आपके जीवन को बर्बाद कर सकता है ।

केस 3 – बिजनेस डील के चक्कर में फंसा युवक

पुणे के एक युवक की दोस्ती डेटिंग ऐप्स के जरिए सिंगापुर की एक लड़की से हुई। लड़की ने अपना नाम लिली बताया। लड़की ने बताया कि उसने सिंगापुर यूनिविर्सिटी से मैनेजमेंट में ग्रेजएशन किया है। पहले लड़की ने पुणे के लड़के को अपने प्यार के जाल मे फसाया। जब लड़का लड़की के जाल मे पूरी तरह से फस चुका था। उसने लड़के को एक ऐसी बिजनेस डील के बारे मे बताया अगर वह मेरे साथ बिजनेस मे निवेश करता है तो उसेअच्छा रिटर्न मिल सकता है।

चूंकि लड़का पहले ही लड़की के प्यार मे फसा हुआ था। तो वह जल्दी ही उसके झांसे मे आ गया। लिली नाम की लड़की ने उस लड़का का एमटी5 ऐप पर अकाउंट खुलवाया। उस अकाउंट के जरिए लगभग एक लाख रुपये जमा करवा लिए। शुरुआत मे तो लड़के को अच्छा रिटर्न मिला। इसे भी जरूर पढे :- फेसबुक पर भूलकर भी न करें ये काम, नहीं तो ब्लॉक हो जाएगा

अच्छा रिटर्न मिलता हुआ देख लड़के ने लालच मे आकर और अधिक निवेश करने के लिए उसके अकाउंट मे 50 लाख रुपये जमा कर दिए। लेकिन ये एक फ्रॉड था। जिसमे लड़का फस चुका। जब उसे इसके बारे मे पता चला तब तक काफी देर हो चुकी थी । लड़के ने इसकी सूचना अपने नजदीकी थाने मे दी

ठगी कहां हो रही है

online dating apps
online dating apps

इंटरनेट पर Bumble, Tinder, TrulyMadly, OkCupid और Grindr जैसे बहुत से डेटिंग ऐप्स है । जहा पर लड़के, लड़कियों को अपने पार्टनर की तलाश रहती है । कुछ लड़किया , लड़किया तो वास्तव मे पार्टनर की तलाश मे ही इन प्लेटफ़ॉर्म पर इस्तेमाल करते है। लेकिन बहुत से लड़के लड़किया ऐसे होते है । जो प्यार के नाम पर अपोजित जेंडर को अपने जाल मे फसाने का काम कर रहे है। इसे भी पढे : – सिम स्वाइप फ्रॉड क्या है |

डेटिंग ऐप्स से जुड़ी हुई कुछ महत्वपूर्ण जानकारी

  • अगर आप डेटिंग का इस्तेमाल करते है तो बिना किसी जानकारी के हर व्यक्ति से दोस्ती करने से बचें।
  • डेटिंग ऐप पर अगर आपकी दोस्ती किसी अनजान प्रसन से हो जाती है। तो जल्दबाजी में आकर उसके साथ अपनी निजी जानकारी शेयर न करे।
  • डेटिंग ऐप पर दोस्ती होने के बाद अगर आपसे कोई आर्थिक मदद के नाम पर पैसा की डिमांड करता है तो अलर्ट हो जाइये।
  • डेटिंग ऐप पर अगर कोई अनजान प्रसन दोस्ती होने बाद आपको दुख भरी कहानी सुनाकर आपसे किसी प्रकार की डिमांड करता है। तो ऐसे लोगों से बचें
  • अगर कोई आपकी बहुत ज्यादा तारीफ कर रहा है तब भी आप सतर्क रहे। क्योंकि चुना हमेशा मीठी बातों से ही लगाया जाता है।
  • अगर आपको डेटिंग ऐप्स पर कोई पार्टनर मिल गया है या मिल गई है तो इसकी जानकारी अपने नजदीकी दोस्तों को जरूर दे।
  • डेटिंग ऐप पर दोस्ती होने के बाद अगर कोई अनजान पर्सन आपको ब्लैकमेल या टॉर्चर कर रहा है तो इसकी सूचना बिना किसी डर के साइबर सेल में जरूर दे।
  • अगर आपने गलती से निजी जानकारी जैसे कि पढ़ाई लिखाई से संबंधित प्रमाण पत्र की जानकारी , बैंकिंग खाते की जानकारी या किसी भी प्रकार की निजी जानकारी दे दी है। तो उसका सबूत देने के लिए सर्टिफिकेट या कोई दस्तावेज न दे।
  • चैट का रिकॉर्ड या बैकअप जरूर रखे। इसे पढे :- मनी लेंडिंग मोबाइल ऐप्स लोन से कतई लोन न लें |
dating apps and site scams hindi ultimate guider _1
dating apps and site scams

डेटिंग ऐप पर अकाउंट खोलने से पहले क्या करें?

  • आप जिस भी डेटिंग ऐप्स पर अकाउंट बना रहे पहले उस प्लेटफ़ॉर्म के बारे मे जांच करे कि ये प्लेटफ़ॉर्म सही भी है या नहीं। ऐप्स के बारे मे जानने के लिए उसके रिव्यू पढे। डाउनलोड की संख्या देखे अगर डाउनलोड संख्या करोड़ों मे है तो ही उस पर भरोसा करे।
  • डायरेक्ट गूगल से डाउनलोड किये गए ऐप पर भरोसा न करे। ऐप को हमेशा गूगल प्ले स्टोर या एप्पल प्ले स्टोर से ही डाउनलोड करे।
  • डेटिंग ऐप्स पर शुरुआत मे अकाउंट बनाते समय मे कभी भी उसमे अपनी पर्सनल जानकारी शेयर न करे। जिसके लीक होने पर आपको नुकसान न हो। मोबाइल नंबर ऐसा दे जो जरूरत पड़ने पर उसे बंद करने पर आपको परेशानी न हो।
  • अकाउंट बनाते समय अपनी पर्सनल डिटेल जैसे कि ईमेल आईडी , मोबाइल नंबर , सोशल मीडिया अकाउंट नेम , इत्यादि जानकारी शेयर न करे। इसे भी पढे :- ऑनलाइन शॉपिंग सुरक्षा टिप्स जिनके बारे मे आपको जरूर जानना चाहिए |
  • डेटिंग ऐप पर लॉगिन करने के लिए अपने निजी फ़ेसबुक अकाउंट से लॉगिन करने से बचे। उसके लिए एक अलग से ईमेल आईडी बना ले। जिसमे आपका किसी प्रकार का डाटा न हो।
  • अगर आपको बार बार मेसेज या ईमेल में दिए गए लिंक पर क्लिक करके ऐप डाउनलोड करने की सलाह दी जा रही है, तो ऐसे में भूलकर कर भी लिंक पर क्लिक करके ऐप डाउनलोड न करे।
  • डेटिंग ऐप्स पर अकाउंट बनाने के बाद सोशल मीडिया पर लगी हुई प्रोफ़ाइल फ़ोटो को डेटिंग ऐप्स पर न लगाए। ऐसा करने से कोई भी अनजान व्यक्ति आपको फ़ोटो को इंटरनेट पर रिवर्स सर्च करके आपकी निजी जानकारी पता कर सकता है। फ्रॉड करने वाले इस जानकारी का गलत फायदा उठाते है।
  • डेटिंग ऐप पर हर व्यक्ति गलत नहीं होता लेकिन किसी भी अनजान प्रसन से दोस्ती करने से पहले उसके बारे में सही जांच करे। इसे भी जरूर पढे :- फेसबुक पर भूलकर भी न करें ये काम, नहीं तो ब्लॉक हो जाएगा

डेटिंग ऐप पर पार्टनर मिलने के बाद क्या ध्यान रखे।

  • डेटिंग ऐप्स पर जब आपको अपना पार्टनर मिल जाता है तो फिर से दोबारा इसकी जांच करें कि आप जिसे अपना पार्टनर समझ रहे वो सही भी है या नहीं
  • डेटिंग ऐप पर मिलने वाला पार्टनर मैरिड है या नहीं इसकी भी जांच करें।
  • डेटिंग ऐप्स पर अगर आपको अपना पार्टनर मिल जाता है तो उसे एकदम से अपना पर्सनल नंबर न दे। बल्कि गूगल फोन नंबर ही दे। उसे अपने फ़ोन पर फॉरवर्ड करे।
  • गूगल वॉइस पर लॉगिन करते समय आपको अपना एरिया कोड और एक फोन नंबर चुनना होता है।
  • डेटिंग ऐप्स पर मिलने वाले व्यक्ति के पर्सनल ग्रुप चैट का हिस्सा न बनें
  • अपनी फ़ोटो देने से बचे
  • वीडियो काल पर बात करने समय अंगों का प्रदर्शन करने से बचें।
  • पैसों का लेन देन करने से दूर रहे अगर कोई पैसों की डिमांड करता है तो अलर्ट हो जाए।
    डेटिंग ऐप्स रिलेशनशीप मे पड़कर महंगे तोहफे के लालच मे न आए अगर आप अपने रिश्तों को लेकर सच मे सिरियस है तो इसकी जानकारी अपने घरवालों को जरूर दे। इसे भी जरूर पढे : हर किसी की निजी जानकारी निकालने वाला पेगासस स्पाइवेयर क्या है।

डेटिंग एप्स पर रखें इन बातों का खास ध्यान

  • डेटिंग ऐप्स का इस्तेमाल करते है तो किसी कि भी प्रोफ़ाइल लाइक या स्वाइप करने से पहले ये जरूर देख ले कि प्रोफ़ाइल वेरीफाइड भी है या नहीं
  • अगर आपकी प्रोफ़ाइल किसी पार्टनर से मेच हो जाती है तो प्रोफ़ाइल मे दी गई जानकारी दूसरे सोशल मीडिया प्लेटफ़ॉर्म से मिला कर चेक करे।
  • डेटिंग ऐप के माध्यम से पार्टनर मिलने के बाद अगर आप उसके साथ डेट पर जाने का प्लान बनाते है तो शुरुआत में हमेशा पब्लिक प्लेस पर ही मिले। लोकेशन की जानकारी अपने नजदीकी दोस्तों को जरूर दे।
    आप जिस भी डेटिंग ऐप्स पार्टनर के साथ डेट पर जाने का प्लान बना रहे है पहले उसके बारे में अच्छे से जान ले। आजकल डेट के बहाने बुलाकर गैंगरेप या रेप जैसी घटनाएं भी सामने आ रही है।
  • दोस्ती हो जाने के बाद अगर कोई आपको बातों मे फसाकर निजी फ़ोटो की मांग करता है तो ऐसी गलती कतई न करे। वरना बाद मे आपको ब्लैकमेल किया जाएगा सामने वाला आपसे जैसी भी डिमांड करेगा आपको उसे पूरा करना होगा। वरना आपके निजी फ़ोटो इंटरनेट पर वायरल करने की धमकी दी जाएगी। इसे पढे :- डीप लर्निंग तकनीक क्या है |
  • अगर आपको कोई किसी बात को लेकर संदेह है तो उसके बारे में गलत कहने में संकोच न करे।

पर्सनली मिलने जाने से पहले की सावधानी

  • अगर आपको डेटिंग ऐप पर कोई पार्टनर मिल गया है आप उससे मिलने का प्लान बना रहे है तो आपको उससे मिलने से पहले कुछ बातों का ध्यान रखना होगा वरना आपको बड़ा नुकसान हो सकता है
  • ऑनलाइन डेटिंग ऐप के माध्यम से मिलने वाले लोगों को अपने सही एड्रेस के बारे में नहीं बताना चाहिए
  • अगर आप डेटिंग ऐप्स पर मिलने वाले पार्टनर से मिलना चाहते है तो हमेशा ऐसे स्थान पर मिले जहां पर आसपास बहुत से लोग हो जैसे कि रेस्टोरेंट , पब्लिक पार्क इत्यादि होटल मे जाने से बचें। इसे भी जरूर पढे : साइबर सेक्स या साइबर बुलिग क्या है। जिसके कारण युवाओ की जिंदगी बर्बाद हो रही है।
  • पार्टनर से मिलने जा रहे है तो इसकी सूचना नजदीकी दोस्तों को जरूर दे हो सके। साथ लेकर जाए वो आपके आसपास रहकर आप पर नजर रख सके, ताकि कुछ गलत होने पर वो आपको मदद दे सके।
  • पहली मुलाकात में ही ड्रिंक लेने से परहेज करें।
  • अगर पार्टनर से मुलाकात करने के बाद आपको कुछ सही नहीं लगता है तो बिना संकोच किए मना कर दे।
  • आपके मना करने के बाद भी अगर आपको पार्टनर परेशान कर रहा है। तो इसकी सूचना साइबर सेल में दे। इसे भी जरूर पढे : क्वांटम टेक्नोलॉजी क्या है ?

शिकायत के लिए संपर्क करें

अगर आपके साथ किसी प्रकार का फ्रॉड हो जाता है तो ऐसे मामलों में रोकथाम करने के लिए संपर्क करें। साइबर पुलिस व्हाट्सएप नंबर –058719371, 7058719375 साइबर पुलिस स्टेशन- 020-29710097 ईमेल crimecyber.pune@nic.in ..

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here