Career Options After 12th Arts Stream Hindi : बारहवी आर्ट्स स्ट्रीम से करने के बाद चुने टॉप करियर विकल्प

Career Options After 12th Arts Stream
Career Options After 12th Arts Stream

बारहवी पास करने के बाद छात्रों को किसी एक करियर का चुनाव करना होता हैं। फिर उस करियर से संबंधित आगे की पढ़ाई करनी होती हैं। कक्षा दस और बारहवी तक तो छात्र आसनी से अपनी पढ़ाई पूरी कर लेते हैं लेकिन बारहवी पूरी होने के बाद छात्रों के लिए करियर का चुनाव करना काफी मुश्किल काम होता हैं।

अगर आप आपने बारहवी आर्ट्स स्ट्रीम से की हैं। उसके बाद आप बारहवी पूरी करने के बाद आर्ट्स स्ट्रीम से जुड़े हुए करियर की तलाश में है तो तो आप इस लेख को पूरा पढ़ें। इस लेख में हम आपको बताने वाले हैं कि बारहवी आर्ट्स स्ट्रीम से करने के बाद कौन से करियर विकल्प चुने ( Career Options After 12th Arts Stream Hindi ) जो छात्रों को भविष्य में एक अच्छा करियर प्रदान करें।

Career Options After 12th Arts Stream Hindi

लोगों के मन में सबसे बड़ी गलत धारणा ये बनी हुई हैं कि जो विधार्थी आर्ट्स स्ट्रीम से बारहवी करने के बाद करियर चुनते है वे कमजोर छात्र होते हैं। ये बात किसी भी हद तक सही नहीं है। क्योंकि बारहवी आर्ट्स स्ट्रीम से करने के बाद विधार्थी डॉक्टर , इंजीनियर को छोड़कर सभी क्षेत्र में करियर बना सकते हैं। देश के सबसे बड़ी सरकारी पोस्ट आईएएस , पीसीएस बन सकते हैं।

आर्ट्स स्ट्रीम से बारहवी करने वाले छात्रों के लिए नए नए कोर्स आ रहे हैं । जिनमे से कोई एक कोर्स चुनकर विधार्थी करियर बना सकते हैं। जहा पर पहले 12th Arts Stream से करने के बाद विधार्थीयो के पास करियर विकल्प नहीं रहते थे लेकिन आज ये लिस्ट काफी लंबी हो चुकी हैं। हम आपको 12th Arts Stream से करने के बाद कुछ टॉप करियर विकल्प के बारें में जानकारी दे रहे हैं। जिन्हे ध्यान से पढ़ें।

बीए ऑनर्स इन जर्नलिज्म (B.A. Hons. In Journalism)

अगर आपको खबरों में बने रहना पसंद हैं। जिसके चलते आप पत्रकारिता में अपना करियर बनाना चाहते हैं। तो आप बीए ऑनर्स इन जर्नलिज्म कोर्स के जरिए पत्रकारिता में अपना करियर बना सकते हैं।

इस कोर्स की अवधि तीन वर्ष की हैं। इस कोर्स को करने के लिए छात्र की अंग्रेजी और हिन्दी भाषा पर अच्छी पकड़ होनी चाहिए। इसके अलावा अगर आपकी अपनी क्षेत्रीय भाषा पर अच्छी पकड़ हैं तो ये आपके लिए फायदेमंद हैं। इस कोर्स को करने के बाद छात्र किसी न्यूज चेनल में इंटर्नशिप कर करके जॉब प्राप्त कर सकते है।

बीए ऑनर्स इन सोशल वर्क (B.A. Hons. In Social Work)

अगर किसी छात्र को समाज सेवा करना लोगों की सहायता करना पसंद हैं। ऐसे छात्र बारहवी के बाद बीए ऑनर्स इन सोशल वर्क कोर्स ग्रेजुएशन कोर्स में दाखिला ले सकते हैं। कोर्स में दाखिला लेने एक लिए छात्रों को बारहवीं की परीक्षा में कम से कम 50 फीसदी अंक प्राप्त करने होंगे।

कोर्स की अवधि तीन वर्ष की हैं। इस कोर्स में छात्रों को साइकोलॉजी, कम्युनिटी आर्गेनाइजेशन, फिजिकल-मेंटल और कम्युनिटी हेल्थ जैसे विषयों के बारें में पढ़ने का मौका मिलेगा।
कोर्स पूरा करने के बाद छात्रों के पास सरकारी क्षेत्र , निजी क्षेत्र और एनजीओ में जॉब करने के अनेकों अवसर मिलते हैं।

बीए इंग्लिश ऑनर्स (B.A. Hons. In English)

अगर किसी छात्र को अंग्रेजी विषय में रुचि हैं। उसकी अंग्रेजी विषय पर अच्छी पकड़ हैं।

ऐसे छात्र अगर अंग्रेजी में अपना करियर बनाना चाहते हैं तो बारहवीं के बाद बीए इंग्लिश ऑनर्स में दाखिला ले सकते हैं। ये एक तीन वर्ष का ग्रेजुएशन कोर्स हैं। जिसमें छात्रों को

ड्रामा, पोएट्री, नॉवेल्स और नाटकों के जरिए पढ़ाई करने का मौका मिलता हैं।

कोर्स को करने के बाद छात्र कंटेन्ट राइटिंग , क्रिएटिव राइटिंग, स्कूल टीचिंग, मीडिया जैसे क्षेत्रों में अपना करियर बना सकते हैं।

बीए साइकोलॉजी ऑनर्स (B.A. Hons. In Psychology)

अगर आप दूसरे लोगों के चेहरे के हाव भाव देखकर उनके व्यवहार के बारें में समझ जाते हो, ऐसे छात्र बारहवीं के बाद बीए साइकोलॉजी ऑनर्स कोर्स में दाखिला ले सकते हैं।

ये एक तीन वर्ष का ग्रेजुएशन कोर्स हैं। आर्ट्स स्ट्रीम वाले छात्रों में इस कोर्स की काफी डिमांड रहती हैं। इस कोर्स में दाखिला लेने के लिए छात्रों को बारहवीं में कम से कम 50 फीसदी अंक प्राप्त करने होंगे।

कोर्स में दाखिला लेने वाले छात्रों को व्यवहार और मानसिक विज्ञान, फीलिंग्स, मानसिक स्थितियों और सामाजिक समस्याओं जैसे विषयों को पढ़ाया जाता हैं। कोर्स पूरा करने के बाद छात्र साइकोलोजिस्ट, लर्निंग एंड डेवलपमेंट स्पेशलिस्ट, रिलेशनशिप मैनेजर और एचआर मैनेजर बनकर अपना करियर बना सकते हो।

बीए (Bachelor of Arts)

बारहवी आर्ट्स से करने वाले ज़्यादतर छात्रों की सबसे पहले पसंद बीए करने की होती हैं। इस कोर्स को आप देश के किसी भी कॉलेज या यूनिवर्सिटी से कर सकते हो।

ये एक तीन वर्ष की ग्रेजुएशन डिग्री हैं। बीए करने वाले छात्र इंग्लिश, हिंदी, हिस्ट्री, पॉलिटिकल साइंस, इकोनॉमिक्स, सोशियोलॉजी, इंटरनेशनल रिलेशंस इत्यादि अलग अलग विषयों से बीए ऑनर्स कर सकते हैं।

बीए की डिग्री लेने के बाद छात्र अपनी पसंद के किसी एक विषय में मास्टर्स डिग्री ले सकते हैं। बीए करने वाले वाले ज़्यादतर छात्र टीचिंग, सरकारी नौकरियों या फिर प्रशासनिक सेवाओं में अपना करियर बनाते हैं।

बैचलर ऑफ फाइन आर्ट्स (BFA)

अगर किसी छात्र की पेंटिंग , फोटोग्राफी ,ग्राफिक डिजाइनिंग , स्केचिंग या एनीमेशन में रुचि हैं। ऐसे छात्र बारहवी के बाद बैचलर ऑफ फाइन आर्ट्स कोर्स कर सकते हैं। ये एक चार वर्षीय ग्रेजुएशन डिग्री हैं। इस कोर्स को करके आप अपनी कला को निखार सकते हैं।

इस कोर्स में छात्रों को आर्ट टीचर, फाइन आर्टिस्ट, मल्टीमीडिया आर्टिस्ट, आर्ट डायरेक्टर, राइटर, पेंटर और फोटोग्राफी जैसे विषयों के बारे में गहराई से जानने का मौका मिलता हैं।

इस कोर्स को करने के बाद आपके पास अलग अलग क्षेत्रों में करियर के अनेकों अवसर मौजूद हैं।

बीए एलएलबी (BA LLB)

अगर आप कानून या फिर लो की पढ़ाई करना चाहते हैं तो आप बारहवी के बाद बीए एलएलबी कोर्स में दाखिला ले सकते हैं।

इस कोर्स की अवधि पांच वर्ष की होती हैं। इस कोर्स में दाखिला लेने के लिए छात्रों को बारहवी में कम से कम 50 फीसदी अंक होना अनिवार्य हैं। देश की अच्छी यूनिवर्सिटी से कानून की पढ़ाई करने के लिए एन्ट्रेंस एग्जाम पास करना अनिवार्य हैं।

कोर्स पूरा करने के बाद आप सरकारी और प्राइवेट वकील बनकर अपनी सेवाये दे सकते हैं। देश में बड़ी बड़ी कंपनियों , फ़र्मों के भी खुद के लीगल कंसल्टेंट्स हायर करती हैं। ऐसे में इन कंपनियों के साथ जुड़कर अपनी सेवाये दे सकते हैं ।

बीएचएम (Bachelor in Hotel Management)

अगर आप कानून या फिर लो की पढ़ाई करना चाहते हैं तो आप बारहवी के बाद बीए एलएलबी कोर्स में दाखिला ले सकते हैं।

इस कोर्स की अवधि पांच वर्ष की होती हैं। इस कोर्स में दाखिला लेने के लिए छात्रों को बारहवी में कम से कम 50 फीसदी अंक होना अनिवार्य हैं। देश की अच्छी यूनिवर्सिटी से कानून की पढ़ाई करने के लिए एन्ट्रेंस एग्जाम पास करना अनिवार्य हैं।

कोर्स पूरा करने के बाद आप सरकारी और प्राइवेट वकील बनकर अपनी सेवाये दे सकते हैं। देश में बड़ी बड़ी कंपनियों , फ़र्मों के भी खुद के लीगल कंसल्टेंट्स हायर करती हैं। ऐसे में इन कंपनियों के साथ जुड़कर अपनी सेवाये दे सकते हैं ।

बीबीए (Bachelor in Business Administration)

अगर आप मेनेजमेंट और बिजनेस से जुड़ा हुआ कोर्स करना चाहते हैं तो बारहवी करने के बाद बीबीए कोर्स में दाखिला ले सकते हैं।

उसके बाद आप एमबीए कर सकते हैं। इस कोर्स को आप देश के किसी मेनेजमेंट कॉलेज से कर सकते हैं। कोर्स पूरा करने के बाद आप कॉर्पोरेट कंपनियों में फाइनांस, मार्केटिंग, ऑपरेशंस या दूसरे क्षेत्रों में अपनी सेवाये दे सकते हैं।

बैचलर इन फैशन डिजाइनिंग (Bachelor in Fashion Designing)

अगर आप फेशन इंडस्ट्री में अपना करियर बनाने की सोच रहे हैं। तो आप बारहवी करने के बाद बैचलर इन फैशन डिजाइनिंग कोर्स में दाखिला ले सकते हैं। ये एक तीन वर्ष की बेचलर डिग्री हैं। इस कोर्स का ज़्यादतर चुनाव लड़किया करती हैं। इस कोर्स में आपकी क्रीएटीवीटि ही आपको सफल बनाती हैं।

टूर एंड ट्रैवल (Tour and Travel)

अगर आपको देश विदेश के अलग अलग जगहों पर घूमना पसंद हैं। आप किसी ऐसे करियर की तलाश में हैं जिसमें आप घूमते हुए अपना करियर बना सकते हो तो आप बारहवी के बाद ट्रेवलिंग से जुड़े हुए कोर्स कर सकते हैं। बीए इन ट्रैवल एंड टूरिज्म मैनेजमेंट, बीबीए इन टूर एंड टैवल मैनेजमेंट, बीए ऑनर्स इन टूर एंड ट्रैवल, बीए इन टूरिज्म स्टडीज इत्यादि

कोर्स पूरा करने के बाद आप किसी ट्रेवलिंग कंपनी के साथ जुड़कर अपनी सेवाये दे सकते हैं। या आप खुद की ट्रेवल एजेंसी शुरू कर सकते हैं।ट्रेवलिंग से जुड़े हुए कोर्स करने के बाद आपके पास काभी जॉब की कमी होने वाली नहीं हैं।

लेख में आपने क्या सीखा

इस लेख में हमने आपको 12th Arts Stream से जुड़े हुए करियर विकल्प ( Career Options After 12th Arts Stream Hindi ) के बारें में जानकारी दी हैं। अगर आपने बारहवी की पढ़ाई Arts Stream से की हैं तो आप इन करियर विकल्प में से कोई एक विकल्प चुनकर अपना करियर संवार सकते हैं।

उम्मीद करते हैं कि आपको हमारी ये जानकारी पसंद आई होगी। अगर आपको हमारी ये जानकारी पसंद आई हैं तो आप अपनी राय हमें कमेंट बॉक्स में बता सकते हैं। इस जानकारी को लेकर अगर आपका किसी प्रकार का कोई सवाल हैं हैं तो कमेंट करके पूछ सकते हैं। इस जानकारी को अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करें ताकि उन्हे भी इसके बारे में पता चल सके। धन्यवाद

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here